शिवसेना का बीजेपी पर हमला, मुंबई में पोस्टर लगाकर पूछा: यही है अच्छे दिन!

बीते कई दिनों से देश भर में पेट्रोल और डीजल की मार से देश की जनता तबाह है.

शिवसेना का बीजेपी पर हमला, मुंबई में पोस्टर लगाकर पूछा: यही है अच्छे दिन!

मुंबई:

बीते कई दिनों से देश भर में पेट्रोल और डीजल की मार से देश की जनता तबाह है. पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार तेजी देखने को मिल रही है और गाड़ी वाले हलकान हो रहे हैं, जिसकी वजह से अब मोदी सरकार विपक्ष के साथ-साथ अपनी ही सहयोगी के निशाने पर आ गई है. पेट्रोल-डीजल के लगातार बढ़ रहे दामों के बीच कांग्रेस के साथ-साथ एनडीए की सहयोगी शिवसेना ने भी  बीजेपी पर हमला बोला है और पीएम मोदी के सबसे अच्छे सूत्रवाक्य 'अच्छे दिन' पर तंज कसा है. शिवसेना अब पेट्रोल-डीजल के दाम पर खुलकर बीजेपी के सामने आ गई है और बैनर-पोस्टर के सहारे मोर्चा खोल दिया है. 

भारत को पेट्रोल-डीजल की कीमत पर बगैर सोचे झटके में निर्णय लेने से बचना चाहिए : धर्मेंद्र प्रधान

शिवसेना ने पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है और मुंबई में कई जगह पोस्टर-बैनर लगाया है. दरअसल, समाचार एजेंसी एएनआई ने दो तस्वीरें जारी की हैं, जिनमें पेट्रोल के दामों का जिक्र किया गया है. शिवसेना ने जो पोस्टर लगाया है, उसमें 2015 और 2018 में तेल की कीमतों के अंतर का आंकड़ा दिखाया है और सरकार से पूछा है कि- क्या यही है अच्छे दिन?

एक पोस्टर पर शिवसेना लिखा हुआ है और दूसरे पर युवा सेना. यानी कि यूथ विंग भी इस पोस्टर से बीजेपी पर हल्ला बोल रही है. पोस्टर पर जो छपा है, उसके मुताबिक, इसे महिम विधानसभा में लगाया गया है. दरअसल, 2015 और 2018 में पेट्रोल और डीजल ते दामों में अंतर दिखाकर शिवसेना ने बीजेपी की खिल्ली उड़ाई है. बता दें कि महाराष्ट्र में सबसे अधिक पेट्रोल महंगा बिक रहा है. वहां पेट्रोल की कीमत 89 रुपये प्रति लीटर तक चला गया है. 
Newsbeep

दिल्ली में पेट्रोल-डीजल पर VAT कम करने के सवाल पर बोले केजरीवाल: हमने नहीं, केंद्र सरकार ने बढ़ाए

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि देश के मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने भी 10 सितंबर को पेट्रोल और डीजल की महंगाई को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ भारत बंद का आह्वान किया है. इसमें कई क्षेत्रिय दलों ने भी भारत बंद में अपना समर्थन देने का वादा किया है.