शिवसेना ने साधा BJP पर निशाना, कहा- पुराने सहयोगियों को कट्टर दुश्मनों के रूप में दिखाया जाना ‘घृणित और दुखद’

शिवसेना ने अपने गठबंधन सहयोगियों के साथ कथित ‘‘बुरे व्यवहार’’ को लेकर भाजपा की निंदा करते हुए आज कहा कि पुराने सहयोगियों को कट्टर दुश्मनों के रूप में दिखाया जाना ‘‘घृणित और दुखद’’ है

शिवसेना ने साधा BJP पर निशाना, कहा- पुराने सहयोगियों को कट्टर दुश्मनों के रूप में दिखाया जाना ‘घृणित और दुखद’

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

खास बातें

  • शिवसेना ने भाजपा पर निशाना साधा
  • गठबंधन सहयोगियों के साथ व्यवहार को लेकर साधा निशाना
  • शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के जरिए साधा निशाना
मुंबई:

शिवसेना ने अपने गठबंधन सहयोगियों के साथ कथित ‘‘बुरे व्यवहार’’ को लेकर भाजपा की निंदा करते हुए आज कहा कि पुराने सहयोगियों को कट्टर दुश्मनों के रूप में दिखाया जाना ‘‘घृणित और दुखद’’ है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में एक संपादकीय में कहा, ‘‘इन दिनों पुराने मित्रों को कट्टर दुश्मनों के रूप में दिखाये जाने का एक चलन हो गया है जो कि घृणित है. हमने इस प्रवृत्ति पर ध्यान दिलाया है. अब (टीडीपी प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री) चन्द्रबाबू नायडू भी इसे सामने लेकर आये है.’’ 

यह भी पढ़ें: आम बजट-2018 से बिफरी बीजेपी की सहयोगी शिवसेना, टीडीपी भी निराश

संपादकीय में कहा गया है, ‘‘राजनीति में नये और पुराने सहयोगी होते है लेकिन पुराने सहयोगियों को दुश्मनों के रूप में दिखाना दुखद है. हमने गठबंधन सहयोगियों के साथ इस दुर्व्यवहार के खिलाफ बोला है और अब नायडू ने भी ऐसा किया है.’’  संपादकीय में उन समाचार रिपोर्टों को खारिज किया गया है कि नायडू और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भाजपा के सहयोगी साझेदारों के साथ कथित दुर्व्यवहार के मुद्दे पर विचार-विमर्श किया है.

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में भगवा से गठजोड़ के पक्ष में कांग्रेस, पूर्व सीएम पृथ्वीराज चव्हाण ने दिया यह बयान

इसमें कहा गया है, ‘‘उन्हें (नायडू को) हमारी शुभकामनाएं हैं. अगर वह दासता के बंधन को तोडने और तेलुगू गौरव के लिए काम करने का फैसला करते है तो उन्हें निश्चित रूप से लोगों का समर्थन हासिल होगा. लेकिन उन्हें अपना राजनीतिक रास्ता बनाना होगा.’’  इस तरह की खबरें आई थीं कि नायडू ने भाजपा नीत राजग गठबंधन में पार्टी के भविष्य पर निर्णय लेने के लिए टीडीपी की बैठक के मद्देनजर शनिवार की सुबह ठाकरे से फोन पर बात की थी .इन रिपोर्टों के बाद शिवसेना का यह बयान आया है.

VIDEO: शिवसेना लोकसभा का चुनाव अपने दम पर लड़ेगी : उद्धव ठाकरे
ऐसा बताया जा रहा है कि नायडू केन्द्रीय बजट में अपने राज्य की ‘‘अनदेखी’’ किये जाने के लिए केन्द्र की भाजपा नीत सरकार से नाखुश है. संपादकीय में कहा गया है, ‘‘राजनीति में कोई स्थाई मित्र या दुश्मन नहीं होता है. राजनीति में विचारधाराओं को लेकर मतभेद हैं लेकिन कोई निजी दुश्मनी या शत्रुता नहीं है लेकिन आज परिदृश्य क्या है.’’


 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com