सावधान! मालवेयर "रीपर" कर रहा है सायबर हमले की तैयारी? अलर्ट जारी

रीपर नाम का एक मालवेयर अब तक विश्व के 20 लाख डिवाइस को इनफेक्ट कर चुका है और रोज 10 हजार के करीब डिवाइस को इफेक्ट कर रहा है.

सावधान! मालवेयर

साइबर हमले के लिए प्रतीकात्मक फोटो

मुंबई:

अब तक हमने प्राकृतिक आपदा वाले तूफान तो देखें हैं लेकिन अब विश्व मे एक बड़े साइबर तूफान की आशंका बनी हुई है. रीपर नाम का एक मालवेयर अब तक विश्व के 20 लाख डिवाइस को इनफेक्ट कर चुका है और रोज 10 हजार के करीब डिवाइस को इनफेक्ट कर रहा है. इसके खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र साइबर सेक्युरिटी ने एडवाइजरी जारी कर लोगों को अपने डिवाइस वायरस से सुरक्षित कर लेने की सलाह दी है.

महाराष्ट्र सायबर सेक्युरिटी के आईजी बृजेश सिंह के मुताबिक ये अब तक का सबसे बड़ा सायबर हमला हो सकता है जैसे साइबर तूफान. इसके पहले मिराई नाम का मालवेयर इसी तरह का हमला कर चुका है. लेकिन उसने सिर्फ 5 लाख डिवाइस इनफेक्ट किये थे. तब भी पूरी दुनिया मे हड़कंप मच गया था. रीपर तो उससे कई गुना बड़ा तूफान ला सकता है. 

यह भी पढ़ें : पेट्या रैन्समवेयर हमले से मुंबई कन्टेनर पोर्ट जेएनपीटी पर भी कामकाज प्रभावित

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

साधारण भाषा में कहें तो रीपर मालवेयर जोम्बी यानी किसी और के दिमाग से संचालित कंप्यूटर की ऐसी सेना तैयार कर रहा है जो कमांड मिलते ही हमला कर देंगे. सायबर भाषा में इसे बोटनेट कहते हैं. साइबर एक्सपर्ट प्रशांत माली के मुताबिक बोटनेट एक तरह का कंप्यूटर रोबोट है जो दूसरे सरवर से जुड़े सीसीटीवी, डीवीआर और राउटर को इनफेक्ट कर चुपचाप पड़ा रहता है. इनफेक्टेड सभी डिवाइस बिना किसी गड़बड़ी के पूर्वरत काम करते रहते हैं लेकिन जैसे ही बोटनेट उन्हें कमांड देता है वो आदेश के मुताबिक निशाने पर दिए गए सिस्टम या सरवर पर हमला बोल देते हैं. बोटनेट ऐसा फिरौती के लिए या फिर सुपारी लेकर करते हैं.

VIDEO: पहले भी हो चुका है साइबर हमला

अभी तक की जानकारी के मुताबिक 9 कंपनियों के इंटरनेट डिवाइस इनफेक्ट हुए हैं जो आईओटी ऑपरेटिंग सिस्टम से चलते हैं, जैसे इंटरनेट से चलने वाले सीसीटीवी और डीवीआर और राउटर. इसलिये लोगों को सलाह दी गई है कि वो अपने डिवाइस की सिक्योरिटी अपडेट कर लें और पासवर्ड डिफ़ॉल्ट रखने की बजाय स्ट्रांग रखें.