NDTV Khabar

मुंबई में भारी बारिश से मुसीबत, दीवार गिरने से 27 की मौत, राहत-बचाव में जुटी NDRF की टीम

मौके पर  राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की टीम लगी हुई है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. पुणे में दीवार गिरने से दबकर 6 की मौत
  2. बचाव कार्य जारी
  3. बचाव कार्य के लिए पहुंची NDRF की टीमें
मुंबई:

Heavy Rain in Mumbai: मुंबई और आसपास के इलाकों में तीन-चार दिन से भारी बारिश जारी है. बारिश की वजह से मुंबई के मलाड और कल्याण में दीवार गिर गई. मलाड में दीवार गिरने से 18 और कल्याण में एक मासूम सहित तीन लोगों की मौत हो गई. कल्याण में एक स्कूल की दीवार दो घरों पर गिरी है. वहीं दूसरी ओर पुणे में सिंहगढ़ कॉलेज की दीवार गिरने से कम से कम 6 लोगों की मौत हो गई, जबकि चार लोग घायल बताए जा रहे हैं.

मलाड इलाके में रातभर मूसलाधार बारिश के कारण एक परिसर की दीवार ढहने से 18 लोगों की मौत हो गई और करीब एक दर्जन लोग घायल हो गए. एनडीआरएफ के अधिकारियों ने बताया कि घटना देर रात करीब दो बजे हुई, जब पूर्वी मलाड इलाके के पिम्परीपाड़ा स्थित एक परिसर की दीवार ढह गई और पास की झुग्गियों में रहने वाले लोग उसकी चपेट में आ गए. एनडीआरएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘घटना की जानकारी मिलने के बाद राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की हमारी टीम श्वान दस्ते के साथ तुरंत घटनास्थल पर पहुंची. इसके अलावा दमकल विभाग की एक टीम और स्थानीय पुलिस भी स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए मौके पर मौजूद है.'

बारिश का कहर: विमान मुंबई एयरपोर्ट पर फिसला, मुख्य रनवे बंद, 52 फ्लाइट्स कैंसिल तो 54 को किया डायवर्ट


उन्होंने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है. उन्होंने कहा, ‘बचाव अभियान जारी है. घायलों को जोगेश्वरी के सदर अस्पताल और कांदिवली के शताब्दी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.' अन्य एक अधिकारी ने कहा, ‘मलाड इलाके में इमारत ढहने के बाद 34 लोगों को जोगेश्वरी ट्रॉमा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कुरार गांव में दीवार ढहने की एक अन्य घटना में 51 लोग घायल हुए और उन्हें कांदिवली के शताब्दी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.' इस बीच, भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) द्वारा मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान के बाद मुम्बई में मंगलवार को सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया गया है.

वहीं, महाराष्ट्र सीएम देवेंद्र फडणवीश ने मलाड में दीवार गिरने से मरने वालों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजे का ऐलान किया और शताब्दी अस्पताल जाकर मलाड में दीवार गिरने की घटना में ज़ख्मी हुए लोगों का हालचाल जाना. मंत्री योगेश सागर भी उनके साथ मौजूद थे.

Mumbai Rains: 24 घंटे की बारिश ने तोड़ा एक दशक का रिकॉर्ड, घरों में रहने की हिदायत- 10 खास बातें

स्थानीय निकाय के एक अधिकारी ने कहा, ‘ भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान के बाद महाराष्ट्र सरकार ने मुम्बई और उसके लोगों की सुरक्षा के लिए एहतियाती तौर पर दो जुलाई को सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया है.' मध्य रेलवे ने पटरियों पर पानी भरने के कारण कुछ ही मार्गों पर ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है. मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता सुनील उदासी ने कहा कि आरपीएफ जवानों की मदद से मध्य रेलवे ने आधीरात को चलने वाली ट्रेन (लोकल) में फंसे हजारों यात्रियों को निकाला और कई स्टेशनों पर चाय, बिस्कुट और अन्य खाद्य पदार्थ भी बांटे.

मध्य रेलवे के अधिकारी ने बताया कि भारी बारिश के कारण मध्य एवं पश्चिमी रेलवे ने लंबी दूरी की 20 से अधिक ट्रेनें या तो रद्द कर दी हैं या फिर उन्हें मुंबई से बाहर स्टेशनों पर ही रोक दिया है. बिजली कंपनियों ने भी एहतियात के तौर पर मुम्बई के कुछ उपनगरीय इलाकों में आपूर्ति को निलंबित कर दिया है. मूसलाधार बारिश के कारण महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस को भी विधायकों के लिए एक नए भवन के निर्माण की आधारशिला रखने के कार्यक्रम को रद्द करना पड़ा. मुंबई विश्वविद्यालय की परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं. साथ ही एमबीबीएस, बीडीएस और बीएएएफएस पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए छात्रों को अब पांच जुलाई तक का वक्त दे दिया गया है.
 

बारिश से बेहाल मायानगरी मुंबई, दो दिनों में ही 540 मिलीमीटर बारिश हुई, टूटा 10 साल का रिकॉर्ड

बता दें मुंबई और महाराष्ट्र के कई इलाकों में रविवार से भारी बारिश जारी है. BMC कमिश्नर के मुताबिक बीते दो दिनों में ही 540 मिलीमीटर बारिश हुई है जो पिछले 10 सालों में सबसे ज़्यादा है. बारिश का पानी सड़कों पर भर गया है, जिससे मुंबई की रफ़्तार थम सी गई है. कई जगह रेलवे ट्रैक पर पानी भर गया है, जिससे ट्रेनें धीरे चल रही हैं और कई रद्द कर दी गईं हैं. भारी बारिश का असर उड़ानों पर भी पड़ा है. मौसम विभाग ने अभी 5 जुलाई तक ऐसे ही बारिश होने की संभावना जताई है. बारिश से बिगड़ते हालातों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने 2 जुलाई मंगलवार को सार्वजनिक छुट्टी का ऐलान किया है.  

Weather Report: दिल्ली-एनसीआर में लोगों को जल्द मिलेगी गर्मी से राहत, जानें अपने राज्य का हाल

सिर्फ आपात सेवाएं ही चालू रहेंगी
महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि मूसलाधार बारिश होने और उससे रेल तथा सड़क परिवहन प्रभावित होने के कारण मुंबई में सिर्फ आपात सेवाएं ही चालू रहेंगी. भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान के बाद स्थानीय निकाय ने लोगों को घर से बाहर निकलने से बचने की सलाह दी है. राज्य सरकार के अधिकारिक प्रवक्ता बृजेश सिंह ने कहा, ‘भारी बारिश के कारण सड़कों और रेल की पटरियों पर पानी भर गया है। एजेंसियों से मिली जानकारी के आधार पर आपात सेवाओं को चालू रखने का फैसला लिया गया है। हमने लोगों से अपील की है कि ऐसे हालात में वे घरों से बाहर ना निकलें।'

‘स्पाइसजेट' का विमान रनवे पर फिसला
मूसलाधार बारिश के कारण जयपुर से आ रहा ‘स्पाइसजेट' का एक विमान मुंबई हवाई अड्डे के मुख्य रनवे से फिसलते हुए उससे नीचे उतर गया. घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है. घटना की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि घटना सोमवार रात करीब पौने बारह बजे हुई, जब जयपुर से मुंबई आ रहा ‘स्पाइसजेट' का विमान एसजी6237 मुख्य रनवे से फिसलते हुए उससे नीचे उतर गया था. सूत्रों ने बताया कि सभी यात्री सुरक्षित हैं. मुख्य रनवे को अस्थाई रूप से बंद कर दिया गया है. फिलहाल हवाई अड्डे के ‘सेकेंडरी रनवे' से विमानों का परिचालन जारी है.

महाराष्ट्र में भारी से भारी बारिश की संभावना
कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र और विदर्भ में दक्षिण-पश्चिमी मानसून सक्रिय हो जाने के बीच मौसम विभाग ने सोमवार को कहा कि इन क्षेत्रों में अगले दो दिनों में कुछ स्थानों पर भारी से अत्यंत भारी बारिश होने की संभावना है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि इसके साथ ही पुणे और आसपास के क्षेत्रों में दो और तीन जुलाई को हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है. बता दें, मुंबई में रविवार से ही भारी बारिश हो रही है और दो दिन में यहां 540 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है. यह पिछले एक दशक में दो दिन की अवधि में हुई सर्वाधिक बारिश है.

दो घंटे की बारिश में ही पानी में डूब गया इंदौर नगर निगम का ऑफिस, देखें- VIDEO

मुंबई नगरपालिका प्रमुख ने जलवायु परिवर्तन को ठहराया जिम्मेदार
मुंबई नगरपालिका के प्रमुख प्रवीण परदेशी ने काफी कम अवधि में मुंबई में इतनी ज्यादा बारिश और इसकी वजह से बनी बाढ़ की हालत के लिए जलवायु परिवर्तन और भौगोलिक स्थिति को जिम्मेदार ठहराया है. इस साल मानसून विलंब से आया जो कि पिछले 45 साल में सबसे धीमा था. देश की वित्तीय राजधानी में दो दिन में 550 मिमी बारिश हुई जो कि पिछले एक दशक में दो दिन में हुई सबसे ज्यादा बारिश है. परदेशी ने कहा, ‘जलवायु परिवर्तन हो रहा है। कभी भी दो दिनों में एक महीने के बराबर बारिश नहीं हुई थी, जिसका मतलब है कि बारिश ज्यादा हुई, यह एक भौगोलिक परिघटना है.'

सूखी नदी पर पुल बना रहे थे मजदूर, अचानक आ गई पानी की तेज धार, फिर...देखें- VIDEO

टिप्पणियां

Video: मुंबई में बारिश ने तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement