बीजेपी का दावा, AAP के सर्वे में हमें मिल रही हैं 202 सीटें, इसीलिए 'आप' ने रोका सर्वे

बीजेपी का दावा, AAP के सर्वे में हमें मिल रही हैं 202 सीटें, इसीलिए 'आप' ने रोका सर्वे

दिल्ली में इन दिनों एमसीडी चुनावों को लेकर राजनीति गर्म है.

खास बातें

  • दिल्ली में एमसीडी चुनाव को लेकर मतदान में अब कुछ ही दिन बचे हैं.
  • आम आदमी पार्टी की ओर से उनका आंतरिक सर्वे बाहर नहीं आया
  • दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने एक ट्वीट किया
नई दिल्ली:

दिल्ली में एमसीडी चुनाव को लेकर मतदान में अब कुछ ही दिन बचे हैं. लेकिन हर बार की तरह आम आदमी पार्टी की ओर से उनका आंतरिक सर्वे बाहर नहीं आया है. पार्टी ने अभी तक दावा नहीं किया है कि पार्टी इतनी सीटों से जीत रही है. पार्टी का कोई भी नेता यह दावा नहीं कर रहा है. न ही आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और न ही दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया या फिर पार्टी का कोई प्रवक्ता किसी चैनल में ऐसा दावा कर रहा है. इसका कारण क्या है अभी तक आधिकारिक रूप से कोई नहीं जानता.

लेकिन इस पूरे मसले में दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने एक ट्वीट कर दावा किया है कि बीजेपी दिल्ली में 202 सीटें जीत रही है. यह अरविंद केजरीवाल के इंटरनल सर्वे में सामने आया है. बग्गा का कहना है कि यह पहली बार है कि अरविंद केजरीवाल कोई इंटरनेल सर्वे लेकर नहीं आए क्योंकि उनके इंटरनल सर्वे में बीजेपी को 202 सीटें मिलती दिख रही है. इसी के साथ बग्गा ने कहा कि केजरीवाल जी डर गए हैं.
 


उल्लेखनीय है कि दिल्ली के राजौरी गार्डन में हुए उपचुनाव में आम आदमी पार्टी को एक करारी हार का सामना करना पड़ा. पार्टी का प्रत्याशी इतने भी मत नहीं जुटा सका कि जमानत बचा पाता. इससे पहले पंजाब और गोवा में भी आम आदमी पार्टी को शिकस्त झेलनी पड़ी. इस सब पर अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली सरकार के कामों को लेकर बहुत सकारात्मकता है. दो साल के अंदर दिल्ली के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली और पानी के लिए बहुत काम किया.

जहां तक राजौरी गार्डन की हार का सवाल है तो केजरीवाल ने कहा था कि जरनैल सिंह ने वहां बहुत काम किया था और वे पंजाब जाना चाहते थे. वे चले गए तो लोगों में बहुत गुस्सा था, जिसे लोगों ने निकाला. इसे एमसीडी चुनावों का 'ट्रेलर' कहना गलत है. बता दें कि अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी अभी भी पूरी उम्मीद लगाए बैठी है कि पार्टी एमसीडी चुनाव में इस बार 2015 दिल्ली विधानसभा चुनाव की तरह परिणाम देगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गौरतलब है कि राष्ट्रीय राजधानी में तीन नगर निगमों में बीजेपी का कब्जा है. यहां पर इनके लिए 23 अप्रैल को चुनाव होगा. पूर्ववर्ती एकीकृत दिल्ली नगर निगम को वर्ष 2012 में तीन हिस्सों में बांट कर उत्तरी, दक्षिणी और पूर्वी नगर निगम बनाए गए थे. एनडीएमसी और एसडीएमसी में 104-104 वार्ड और ईडीएमसी में 64 वार्ड हैं.