एमसीडी चुनावों से पहले बीजेपी के सामने आई बड़ी दिक्कत, निकालने पड़े 21 नेता

एमसीडी चुनावों से पहले बीजेपी के सामने आई बड़ी दिक्कत, निकालने पड़े 21 नेता

दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी.

खास बातें

  • इन सभी कार्यकर्ताओं को पार्टी से छह वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया गया
  • सबसे ज्यादा वहीं नेता और कार्यकर्ता हैं जिन्हें टिकट की आस थी
  • पार्टी से कई मौजूदा पार्षद नाराज भी हैं
नई दिल्ली:

नगर निगम चुनाव से ठीक एक हफ्ते पहले बीजेपी की अनुशासन समिति ने 21 कार्यकर्ताओं को पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त पाया है. शनिवार शाम को इन सभी कार्यकर्ताओं को पार्टी से छह वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया गया है. इनमे सबसे ज्यादा वहीं नेता और कार्यकर्ता हैं जिन्हें टिकट की आस थी और पार्टी ने किसी और टिकट दे दिया. पार्टी से कई मौजूदा पार्षद नाराज भी हैं और उनमें से कई दूसरी पार्टियों का रुख भी कर चुके हैं.

रणहौला वार्ड के मौजूदा पार्षद पर भी पार्टी ने कार्रवाई की है. पार्टी की अनुशासन समिति ने इन कार्यकर्ताओं के खिलाफ चुनाव मैदान में घोषित प्रत्याशियों को नुकसान पहुंचाने की शिकायत मिलने के बाद यह कार्रवाई की है. पार्टी नेताओं का कहना है कि शिकायत के बाद मामलों की जांच की गई, जिसमें शिकायत को सही पाया गया.

नगर निगम चुनाव यानी एमसीडी चुनाव के लिए बीजेपी ने मौजूदा पार्षदों, उनके रिश्तेदार और अन्य करीबियों को टिकट नहीं दिया था. पार्टी ने नए और युवा चेहरों पर दांव खेलते हुए नामांकन से कुछ घंटे पहले सभी प्रत्याशियों के नाम सार्वजनिक किए थे.

कहा जा रहा है कि पार्टी ने बागियों से बचने के लिए यह प्रयास भी किया कि अंतिम समय में सूची जारी की जाए ताकि बागी चुनाव मैदान में उतर भी न पाएं. कहा जा रहा है कि टिकट की उम्मीद लगाए बैठे नेता और कार्यकर्ता इसके बाद पार्टी विरोधी गतिविधियों में लग गए.

पार्टी द्वारा निष्कासित किए नेता और कार्यकर्ताओं की सूची इस प्रकार है.

bjp expulsion list
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com