NDTV Khabar

स्कूल बैग में एक करोड़ से ज्यादा के बंद हुए नोट लेकर घूम रहे थे छह लोग, पुलिस को मिली सूचना और फिर...

नोटबंदी के करीब ढाई साल बाद पुलिस ने चौंकाने वाले एक मामले में एक गिरोह के छह सदस्यों को चलन से बाहर किए गए एक करोड़ रुपये से ज्यादा के नोटों के साथ धर दबोचा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्कूल बैग में एक करोड़ से ज्यादा के बंद हुए नोट लेकर घूम रहे थे छह लोग, पुलिस को मिली सूचना और फिर...

प्रतीकात्मक फोटो.

इंदौर:

नोटबंदी के करीब ढाई साल बाद पुलिस ने चौंकाने वाले एक मामले में एक गिरोह के छह सदस्यों को चलन से बाहर किए गए एक करोड़ रुपये से ज्यादा के नोट के साथ धर दबोचा. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) रुचिवर्धन मिश्रा ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर एमजी रोड क्षेत्र में पकड़े गए आरोपियों की पहचान मोहम्मद असलम अली (25), दिलीप जेना (31), राजीव कुमार पाण्डा (25), दिव्यराम ब्योवरा (27), विशाल सिंह परिहार (33) और जय कुशवाह (33) के रूप में हुई है. गिरोह के सरगना असलम समेत इसके चार सदस्य ओडिशा के रहने वाले हैं, जबकि दो अन्य मध्यप्रदेश के ग्वालियर शहर से ताल्लुक रखते हैं.

दिल्ली में एक इमारत से बरामद हुए 16 करोड़ के बंद हो चुके नोट, मास्टरमाइंड समेत 10 धरे गए

उन्होंने बताया कि गिरोह के सदस्यों ने कानून प्रवर्तन एजेंसियों की निगाहों से बचने के लिए स्कूल बैगों में बंद किए गए नोट छिपा रखे थे. तलाशी के दौरान इन बैगों से 500 और 1,000 रुपये के बंद किए गए नोटों की शक्ल में एक करोड़ एक लाख 15 हजार रुपये के नोट बरामद किए गए. ये बंद नोट कथित तौर पर ओडिशा के व्यापारियों से यह कहकर प्राप्त किए गए थे कि इन्हें 'कमीशन के आधार पर' प्रचलित मुद्रा से बदलवा दिया जाएगा.


टिप्पणियां

क्या हुआ पुराने 500 और हजार रुपये के नोटों का, इन्होंने खत्म की पीएम मोदी की टेंशन

एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ की जा रही है कि उन्होंने बंद नोटों की खेप किन लोगों से हासिल की थी और इसे किन व्यक्तियों के जरिये प्रचलित मुद्रा से बदलवाया जाना था. आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय को भी मामले की सूचना दी जा रही है. बहरहाल, बंद नोटों की बड़ी खेपें यहां पहले भी पकड़ी जा चुकी हैं.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement