कांग्रेस के लिए प्रचार करने वाले देवमुरारी बापू ने सीएम कमलनाथ को दी धमकी, कहा- कल करूंगा आत्मदाह

मध्य प्रदेश में 2018 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के लिए प्रचार करने वाले आचार्य देवमुरारी बापू ने सोमवार को भोपाल में मुख्यमंत्री के आवास के बाहर आत्मदाह करने की धमकी दी

कांग्रेस के लिए प्रचार करने वाले देवमुरारी बापू ने सीएम कमलनाथ को दी धमकी, कहा- कल करूंगा आत्मदाह

देवमुरारी बापू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके जताई नाराजगी

भोपाल:

मध्य प्रदेश में 2018 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के लिए प्रचार करने वाले आचार्य देवमुरारी बापू ने सोमवार को भोपाल में मुख्यमंत्री के आवास के बाहर आत्मदाह करने की धमकी दी. वृंदावन के संत आचार्य देव मुरारी बापू अपनी दूसरी मांगों के अलावा मध्यप्रदेश गौ संवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति नहीं होने से नाराज़ हैं. केसरिया हिंदू वाहिनी संत सभा के राष्ट्रीय प्रमुख देवमुरारी बापू ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा 'मैंने पिछले साल नवंबर में मध्यप्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस को समर्थन देकर उसके पक्ष में प्रचार किया था. संतों के समर्थन के बिना मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं बन सकती थी. लेकिन कांग्रेस सरकार हमारी बात नहीं सुन रही है.  

शिवराज चौहान ने कानून-व्यवस्था को लेकर उठाए सवाल तो कमलनाथ बोले- '5 वर्ष में ऐसा मध्यप्रदेश बनाऊंगा कि आपको...'

उन्होंने कहा, 'मैंने कमलनाथ से मांग की थी कि 15 अगस्त तक मध्यप्रदेश गौ संवर्धन बोर्ड में मेरी नियुक्ति की जाए, ताकि मैं गौ सेवा कर सकूं. लेकिन, यह मांग भी अनसुनी कर दी गई.' बापू ने कहा, 'इससे मैं आहत हूं और कल (सोमवार) 12 बजे दोपहर मैं यहां मुख्यमंत्री निवास के सामने आत्महत्या करूंगा, क्योंकि इस सरकार द्वारा संतों की मांगें नहीं मानने से मेरा मान-सम्मान गिरा है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

लद्दाख से BJP सांसद नामग्याल बोले, चीन के खिलाफ पूर्व पीएम नेहरू की 'फॉरवर्ड पॉलिसी' बाद में 'बैकवर्ड पॉलिसी' बन गई

उन्होंने कहा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के कहने पर मैंने मध्य प्रदेश के 15 जिलों में तत्कालीन सत्ताधारी भाजपा के खिलाफ व्यापक प्रचार किया. लेकिन सत्ता में आने के बाद, कमलनाथ सरकार ने केवल दो हिंदू धार्मिक नेताओं और कंप्यूटर बाबा और स्वामी सुबोधानंद को ही जिम्मेदारी दी. देवमुरारी बापू ने बीजेपी से अपनी जान को खतरा होने का आरोप लगाते हुए मप्र सरकार से वाई' श्रेणी की सुरक्षा की मांग भी की है. कमलनाथ सरकार ने कुछ महीने पहले कंप्यूटर बाबा को मां नर्मदा-क्षिप्रा-मंदाकिनी ट्रस्ट का अध्यक्ष नियुक्त किया था. कंप्यूटर बाबा ने 2018 के विधानसभा चुनावों और मप्र में 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के लिए प्रचार किया था.