NDTV Khabar

कमलनाथ सरकार के साथ हैं सभी विधायक, बीजेपी को अब भी आस बाकी

लोकसभा में बीजेपी को मिले प्रचंड बहुमत के बाद से ही इस तरह की चर्चा है कि राज्य में किसी भी वक्त कांग्रेस की सरकार गिर सकती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कमलनाथ सरकार के साथ हैं सभी विधायक, बीजेपी को अब भी आस बाकी

मध्य प्रदेश में बीजेपी के पास 109 विधायक हैं.

भोपाल:

मध्यप्रदेश में लोकसभा की 29 में से 28 सीटें हारने के बाद राज्य में कमलनाथ सरकार को उस वक्त कुछ राहत मिली, जब उसे समर्थन देने वाले सारे विधायकों ने रविवार को विधायक दल की बैठक में शिरकत की. लोकसभा में बीजेपी को मिले प्रचंड बहुमत के बाद से ही इस तरह की चर्चा है कि राज्य में किसी भी वक्त कांग्रेस की सरकार गिर सकती है. ऐसे में सभी विधायकों के बैठक में शामिल होने के बाद फिलहाल मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर तो कोई खतरा नहीं समझ आता लेकिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष में बदलाव की बात जरूर उठ रही है. कमलनाथ पहले ही प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश कर चुके हैं. 

प्रदेश अध्यक्ष के बदले जाने के सवाल पर कमलनाथ सरकार में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि यह मांग सिंधिया खेमे की नहीं है, यह मांग राज्य के हर कार्यकर्ता की है. 

यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश में सियासती हलचल, बीजेपी तलाश रही कमजोर कड़ी


उधर बैठक में कांग्रेस पार्टी समेत बाहर से समर्थन दे रहे सपा, बसपा और निर्दलीय विधायक भी शामिल रहे. इनमें समाजवादी पार्टी से विधायक राजेश कुमार शुक्ला के बीजेपी के साथ जाने के सवाल पर कहा कि बीजेपी के साथ जाने का कोई सवाल नहीं है, हमारे बीच वैचारिक मतभेद हैं, यह सरकार 5 साल पूरा करेगी. वहीं इसी सवाल के जवाब में बीएसपी विधायक रामबाई ने कहा कि वे किसी भी कीमत पर बीजेपी के साथ नहीं जाएंगे. उन्होंने कहा,  'मुझे पता है कि वे कैसे हैं. लड़ेंगे लेकिन दादा को नहीं छोड़ेंगे' 

इस सब के बीच बीजेपी को अभी भी लगता है कि राज्य में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार अब अल्पमत में है. नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव का कहना है, 'केंद्र में सरकार बन जाए, पीएम शपथ ले लें, मंत्रीमंडल शपथ ले ले, फिर हम संगठन के साथ राज्य के नेताओं के साथ बैठकर विचार विमर्श करेंगे वो आपको दिखेगा.'

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद एमपी के CM कमलनाथ ने की इस्तीफे की पेशकश

बता दें मध्य प्रदेश की 230 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के पास 114 विधायक हैं. बसपा के 2 विधायक, सपा के पास 1 और 4 निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सत्तारूढ़ पार्टी 116 के जादुई आंकड़े से 5 आगे है. वहीं बीजेपी के पास 109 विधायक हैं. 

वीडियो: एमपी सरकार पांच साल पूरा करेगी, साथ हैं सभी विधायक - कमलनाथ

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement