NDTV Khabar

अटल जी की भतीजी ने कहा- बीजेपी अब अपनी डूबती नैया के लिए सहारा बनाना चाहती है वाजपेयी को

कांग्रेस की नेत्री और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला ने कहा कि वे अटल जी के नाम पर बीजेपी की राजनीति से व्यथित हैं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अटल जी की भतीजी ने कहा- बीजेपी अब अपनी डूबती नैया के लिए सहारा बनाना चाहती है वाजपेयी को

छत्तीसगढ़ की कांग्रेस नेत्री और अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला (फाइल फोटो).

रायपुर: पिछले दस वर्षों से अटल बिहारी वाजपेयी को बीजेपी ने परिदृश्य से पूरी तरह से गायब कर दिया था. अब चूंकि चार राज्यों में बीजेपी की नैया डूबती हुई दिख रही है तो एकाएक बीजेपी को वाजपेयी डूबते को तिनके के सहारे की तरह दिख रहे हैं. कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला ने यह बात कही है. उन्होंने कहा है कि वे वाजपेयी के नाम पर बीजेपी की राजनीति से व्यथित हैं.

करुणा शुक्ला ने एक टीवी चैनल से कहा है कि वाजपेयी की मृत्यु के बाद बीजेपी जिस तरह से उनके नाम को राजनीति के लिए भुनाने में जुटी है, उससे वह क्षुब्ध और व्यथित हैं. शुक्ला ने कहा है कि चार राज्यों में होने वाले चुनाव को ध्यान में रखते हुए ही बीजेपी को वाजपेयी के नाम को भुनाने का ध्यान आया है.

उन्होंने कहा कि पिछले दस वर्षों से वाजपेयी को बीजेपी ने परिदृश्य से पूरी तरह से गायब कर दिया था. इन दस वर्षों में जिन राज्यों में चुनाव हुए वहां भी वाजपेयी का नाम लेना तो दूर किसी पोस्टर या बैनर में उनकी तस्वीर तक नहीं लगाई गई. चूंकि अब चार राज्यों में बीजेपी की नैया डूबती हुई दिख रही है तो एकाएक बीजेपी को वाजपेयी डूबते को तिनके के सहारे की तरह दिख रहे हैं.

यह भी पढ़ें : अस्थि कलश यात्रा: ग्‍वालियर में अटल जी के परिवार की अनदेखी, कैब नहीं दिलाई तो ऑटो में गई भतीजी

इस बीच भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्य में पर्यटन मंडल के उपाध्यक्ष केदारनाथ गुप्ता ने कहा है कि करुणा शुक्ला की वाजपेयी पर यदि श्रद्धा होती तो वह उनकी पार्टी नहीं छोड़तीं. गुप्ता ने कहा कि शुक्ला ने राजनीतिक स्वार्थ के लिए संबंधों को भी दरकिनार कर दिया. छत्तीसगढ़ में अटल विहार और अटल आवास योजना बरसों से लागू है. इसलिए यह कहना उचित नहीं है कि वाजपेयी को यहां भुला दिया गया था. उन्होंने कहा,‘‘हम सब अटल जी के सिद्धांतों के अनुरूप जनता की सेवा कर रहे हैं. देश में प्रधानमंत्री से लेकर भाजपा के बूथ स्तर तक का कार्यकर्ता अटल जी के जाने से दुखी और द्रवित है.’’

नया रायपुर से लेकर विश्वविद्यालय का नामकरण वाजपेयी के नाम पर रखने पर करुणा शुक्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री रमन सिंह को पिछले दस बरसों में कितनी बार वह याद आए उन्हें बताना चाहिए. वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री ने कहा है कि जनता बीजेपी के आडंबर को जानती है और समझ रही है.

यह भी पढ़ें : अटल बिहारी वाजपेयी के श्रद्धांजलि कार्यक्रम में हंसी ठिठोली करते दिखे छत्तीसगढ़ सरकार के दो मंत्री

करुणा शुक्ला ने कहा है कि अटल बिहारी वाजपेयी अजातशत्रु थे और उनसे हर कोई स्नेह रखते थे, सब उनका सम्मान करते हैं. जवाहरलाल नेहरू से लेकर इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और सोनिया गांधी तक से उनके कितने आत्मीय संबंध रहे यह इतिहास में दर्ज है. लेकिन भाजपा तो मानवीय संबंधों का सम्मान करना भूल चुकी है और इसका सबसे बड़ा उदाहरण लालकृष्ण आडवाणी जैसे वरिष्ठ नेता का पार्टी में हो रहा अपमान है.

उन्होंने कहा है कि वाजपेयी की भतीजी होने के नाते उन्हें इस घटनाक्रम से ज़्यादा दुख हो रहा है. वाजपेयी के भाई अवध बिहारी की बेटी होने के कारण उन्हें भाजपा की इस करतूत से पीड़ा हो रही है.

टिप्पणियां
VIDEO : पूरे देश में अटल जी की अस्थि कलश यात्रा

(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement