NDTV Khabar

बारिश के कारण जाम हुए एम्बुलेंस में दम घुटने से मासूम की मौत, पिता को नहीं तोड़ने दी गई खिड़की

एक बच्चे ने अस्पताल की दहलीज पर दम तोड़ दिया, इलाज नहीं मिलने की वजह से नहीं बल्कि एम्बुलेंस में फंसे रहने की वजह से.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बारिश के कारण जाम हुए एम्बुलेंस में दम घुटने से मासूम की मौत, पिता को नहीं तोड़ने दी गई खिड़की

बारिश के कारण जाम हो गया था एम्बुलेंस का दरवाजा.

खास बातें

  1. अस्पताल की दहलीज पर बच्चे ने तोड़ा दम
  2. बारिश की वजह से जाम था एम्बुलेंस का दरवाजा
  3. पिता को नहीं तोड़ने दिया गया खिड़की
रायपुर:

एक बच्चे ने अस्पताल की दहलीज पर दम तोड़ दिया, इलाज नहीं मिलने की वजह से नहीं बल्कि एम्बुलेंस में फंसे रहने की वजह से. मामला छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल डॉ. भीमराव अंबेडकर का है,  जहां अस्पताल पहुंचने पर एम्बुलेंस का गेट लॉक हो गया और करीब 2 घंटे तक नहीं खुला और दम घुटने की वजह से दिल का इलाज करवाने आए बच्चे की मौत हो गई.

यह भी पढ़ें : एंबुलेंस में लगी लाग, दो लोगों की मौके पर मौत 

मंगलवार सुबह बिहार के गया के रहने वाले अम्बिका कुमार अपनी पत्नी के साथ अपने दो महीने के मासूम बेटे के इलाज के लिए ट्रेन से रायपुर पहुंचे. स्टेशन से उसे अम्बेडकर अस्पताल में भर्ती करवाने वो सरकारी एम्बुलेंस संजीवनी एक्सप्रेस से रवाना हुए, लेकिन एम्बुलेंस जब मासूम को लेकर अम्बेडकर अस्पताल पहुंची तो वहां गेट लॉक हो गया.

यह भी पढ़ें : कालिया दंपति का मिशन....ताकि कोई एम्बुलेंस न मिलने के कारण दम न तोड़े


करीब डेढ़ घंटे तक लगातार कोशिशों के बाद भी एम्बुलेंस का गेट नहीं खुला. एम्बुलेंस के गेट को खुलवाने के लिए मैकेनिक के पास ले जाया गया, लेकिन मैकेनिक के तमाम कोशिशों के बाद भी एम्बुलेंस का गेट नहीं खुला. बच्चे के पिता का आरोप है घबराहट में जब उन्होंने खिड़की तोड़नी चाही तो उन्हें धमकाया. गया कि सरकारी संपत्ति को नुकसान ना पहुंचाएं. 

टिप्पणियां

VIDEO: अस्पतालों ने नहीं किया 9 दिन की बच्ची का इलाज

आखिर बच्चे को करीब दो घंटे बाद एम्बुलेंस की खिड़की से बाहर निकाला गया तब मासूम की दम घुटने से मौत हो गई थी. मासूम की मौत से अम्बिका कुमार और उसकी पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है. अम्बिका कुमार मासूम के इलाज के लिए एम्स दिल्ली से रायपुर पहुंचा था. फिलहाल इस मामले में अस्पताल प्रशासन ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement