भय्यूजी महाराज की खुदकुशी का मामला, कथित रूप से ब्लैकमेल करने वाली युवती तक पहुंची पुलिस

आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज की खुदकुशी (Bhaiyyu Maharaj Suicide Case) के बहुचर्चित मामले में संदेह के घेरे में आयी 25 वर्षीय युवती से पुलिस ने इंदौर में पूछताछ की.

भय्यूजी महाराज की खुदकुशी का मामला, कथित रूप से ब्लैकमेल करने वाली युवती तक पहुंची पुलिस

संदेह के घेरे में आयी 25 वर्षीय युवती से पुलिस ने इंदौर में पूछताछ की

इंदौर:

आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज की खुदकुशी की वजहों से जल्द ही पर्दा उठ सकता है. दरअसल, भय्यूजी महाराज की खुदकुशी (Bhaiyyu Maharaj Suicide Case) के मामले में संदेह के घेरे में आयी 25 वर्षीय युवती से पुलिस ने इंदौर में पूछताछ की. सूत्रों के मुताबिक भय्यूजी महाराज (Bhaiyyu Maharaj) के पूर्व ड्राइवर कैलाश पाटिल ने पुलिस को हाल ही में दिये बयान में दावा किया है कि युवती यह कहकर आध्यात्मिक गुरु को ब्लैकमेल कर रही थी कि उसके पास उनसे जुड़े कुछ वीडियो और निजी वस्तुएं हैं. पुलिस अधीक्षक अगम जैन ने बताया कि भय्यूजी महाराज की खुदकुशी (Bhaiyyu Maharaj Suicide) के मामले में 25 वर्षीय युवती से पूछताछ की गयी है. सीएसपी के मुताबिक युवती ने पुलिस को बताया कि वह आध्यात्मिक गुरु की मौत से पहले उनकी युवा बेटी कुहू की देखभाल करती थी. जैन ने युवती की पहचान का खुलासा किये बगैर बताया, "हमने पूछताछ के लिये युवती को नोटिस भेजा था. इस पर वह खुद हमारे सामने पेश हुई. जरूरत पड़ने पर उसे दोबारा पूछताछ के लिये बुलाया जा सकता है".

क्या इस वजह से भय्यूजी महाराज ने की थी आत्महत्या ? 10 पन्नों के बेनामी खत में दावा

एसपी ने बताया, "हम मामले की विस्तृत जांच के जरिये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या कोई व्यक्ति भय्यूजी महाराज को परेशान कर रहा था या किसी शख्स ने उन्हें खुदकुशी के लिये उकसाया था?" पुलिस ने हाल ही में भय्यूजी महाराज के खास सेवादार विनायक दुधाड़े से भी पूछताछ की है, जो आध्यात्मिक गुरु की खुदकुशी के कुछ समय बाद गायब हो गया था. आध्यात्मिक गुरु के पूर्व ड्राइवर कैलाश पाटिल ने ब्लैकमेलिंग के जरिये भय्यूजी महाराज से धन ऐंठने के कथित गोरखधंधे में युवती के साथ दुधाड़े की भूमिका पर भी सवाल उठाये हैं. दुधाड़े, भय्यूजी महाराज (Bhaiyyu Maharaj) की आत्महत्या के तुरंत बाद चर्चा में आया था. आध्यात्मिक गुरु के कथित सुसाइड नोट में उनके वित्तीय उत्तराधिकार, सम्पत्ति, बैंक खाते और संबंधित मामलों में दस्तखत का हक दुधाड़े को सौंपे जाने का जिक्र था. दुधाड़े भय्यूजी महाराज से करीब 15 साल पहले जुड़ा था और साये की तरह उनके साथ रहता था. (इनपुट-भाषा)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भय्यूजी महाराज का सुसाइड नोट, पत्‍नी या मां को नहीं बल्कि सेवादार को दिया 1000 करोड़ की संपत्ति का अधिकार 

VIDEO: भय्यूजी महाराज ने सुसाइड नोट छोड़ की खुदकुशी