NDTV Khabar

क्या इस वजह से भय्यूजी महाराज ने की थी आत्महत्या ? 10 पन्नों के बेनामी खत में दावा

भय्यूजी म​हाराज की आत्महत्या के बहुचर्चित मामले में पुलिस को एक बेनामी खत मिला है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि आध्यात्मिक गुरु अपनी दूसरी पत्नी के बुरे बर्ताव के कारण तनाव में रहते थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या इस वजह से भय्यूजी महाराज ने की थी आत्महत्या ? 10 पन्नों के बेनामी खत में दावा

बेनामी खत में आरोप लगाया गया है कि आध्यात्मिक गुरु अपनी दूसरी पत्नी के बुरे बर्ताव के कारण तनाव में रहते थे.

खास बातें

  1. पुलिस को मिला 10 पन्नों का बेनामी खत
  2. खत में आत्महत्या को लेकर कई दावे किए गए हैं
  3. पुलिस ने इस खत की सत्यता की जांच शुरू की
इंदौर: भय्यूजी म​हाराज की आत्महत्या के बहुचर्चित मामले में पुलिस को एक बेनामी खत मिला है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि आध्यात्मिक गुरु अपनी दूसरी पत्नी के बुरे बर्ताव के कारण तनाव में रहते थे. पुलिस ने इस पत्र को लेकर जांच शुरू कर दी है. पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरिनारायणचारी मिश्र ने इस बात की तसदीक की कि पुलिस को भय्यूजी म​हाराज की खुदकुशी के मामले में कल करीब 10 पेज का बेनामी पत्र मिला है. उन्होंने खत के मजमून का खुलासा किये बगैर बताया, "हमारे शहर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) जांच कर रहे हैं कि खत में लिखी बातों में कितनी सचाई है". पुलिस सूत्रों के मुताबिक डीआईजी को बेनामी खत भेजने वाले ने अपना परिचय भय्यूजी महाराज के सेवादार के रूप में दिया है. पत्र में इस आशय के आरोप लगाये गये हैं कि आध्यात्मिक गुरु की दूसरी पत्नी आयुषी का उनके साथ बर्ताव ठीक नहीं था और वह इससे तनाव में रहते थे. उधर, आयुषी की मां रानी शर्मा ने अपनी बेटी के खिलाफ इन आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि बेनामी खत में लिखी बातें मनगढ़ंत हैं. भय्यू महाराज (50) ने यहां अपने बाइपास रोड स्थित बंगले में 12 जून को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी.

यह भी पढ़ें : भय्यूजी महाराज का सुसाइड नोट, पत्‍नी या मां को नहीं बल्कि सेवादार को दिया 1000 करोड़ की संपत्ति का अधिकार

कथित सुसाइड नोट के एक हिस्से में उन्होंने लिखा कि वह भारी तनाव से तंग आने के कारण जान दे रहे हैं. इस बीच, भय्यूजी महाराज के स्थापित श्री सद्गुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट ने आज एक पत्र जारी करके मीडिया से अनुरोध किया कि वह आध्यात्मिक गुरु की आत्महत्या के मामले की पुलिस जांच पूरी होने तक इस संस्था या उनके परिवार के किसी भी व्यक्ति से संपर्क न करे. ट्रस्ट के सचिव तुषार पाटिल ने पत्र में कहा, "पुलिस की जांच पूरी होने और इसकी रिपोर्ट सार्वजनिक होने के बाद ही हमारे द्वारा (भय्यू महाराज की मौत के मामले में) मीडिया को कोई प्रतिक्रिया दी जायेगी". भय्यूजी महाराज का वास्तविक नाम उदय सिंह देशमुख था. वह मध्यप्रदेश के शुजालपुर कस्बे के जमींदार परिवार से ताल्लुक रखते थे. उनकी पहली पत्नी माधवी का नवम्बर 2015 में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था. इसके बाद उन्होंने वर्ष 2017 में 49 साल की उम्र में मध्यप्रदेश के शिवपुरी की आयुषी शर्मा के साथ दूसरी शादी की थी. 

यह भी पढ़ें : सुसाइड नोट लिखने से पहले क्या-क्या लिखा था भय्यूजी महाराज ने...?  

टिप्पणियां
VIDEO: बड़ी खबर : भय्यूजी महाराज ने सुसाइड नोट छोड़ की खुदकुशी


(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement