Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

पार्टी अध्यक्ष के दावे से उलट मध्यप्रदेश में बीजेपी नेता अपने परिजनों को टिकट दिलाने में जुटे

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और ऊर्जा विकास निगम के चैयरमैन विजेंद्र सिंह सिसोदिया के बेटे देवेंद्र सिंह सिसोदिया कुछ दिनों पहले अपने दो हजार से ज्यादा समर्थकों के साथ भोपाल बीजेपी दफ्तर पहुंचे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पार्टी अध्यक्ष के दावे से उलट मध्यप्रदेश में बीजेपी नेता अपने परिजनों को टिकट दिलाने में जुटे

अमित शाह की कही बात को गलत साबित कर रहे है पार्टी के नेता

भोपाल:

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भले ही परिवारवाद के आधार पर चुनाव में टिकट देने की बात को ठुकराते रहे हों लेकिन उनकी पार्टी के कार्यकर्ता ही उनकी बात नहीं मान रहे. कुछ दिन पहले ही अमित शाह ने मध्यप्रदेश के होशंगाबाद में बूथ लेवल कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि हमारी पार्टी में कांग्रेस की तरह परिवारवाद के आधार पर टिकट का बंटवारा नहीं होता है. हम उम्मीदवारों को उसकी योग्यता के आधार पर टिकट देते हैं ताकि वह अपने क्षेत्र के लिए बेहतर काम कर सके. हालांकि उनकी इस बात से उनकी पार्टी के ही कार्यकर्ता और नेता इत्तेफाक नहीं रखते दिख रहे हैं. यही वजह है कि मध्य प्रदेश में बहुत सारे मंत्री, सांसद और विधायक अपने पुत्रों को टिकट के लिए जोर-आजमाइश कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: जिसे मंत्री बनाया था वही बाबा अब शिवराज सिंह के खिलाफ 'मन की बात' करने लगा!


बीजेपी के वरिष्ठ नेता और ऊर्जा विकास निगम के चैयरमैन विजेंद्र सिंह सिसोदिया के बेटे देवेंद्र सिंह सिसोदिया कुछ दिनों पहले अपने दो हजार से ज्यादा समर्थकों के साथ भोपाल बीजेपी दफ्तर पहुंचे थे, दावेदारी शुजालपुर से टिकट की है. रेस में सिसोदिया अकेले नहीं हैं, नेतापुत्रों की पूरी फौज मोर्चे पर डटी है. वहीं इंदौर 2 से पार्टी महासचिव कैलाश विजवर्गीय के बेटे आकाश दावेदार हैं, तो इंदौर 3 से सुमित्रा महाजन के बेटे मंदार. जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा और वित्त मंत्री जयंत मलैया भी अपने सुपुत्रों के लिये संपर्क बढ़ा रहे हैं, गोपाल भार्गव के बेटे अभिषेक, गौरीशंकर शेजवार को भी अपने बेटे मुदित के लिये टिकट चाहिये, राज्यसभा सांसद प्रभात झा अपने बेटे तुष्मुल के लिये सिंगरौली से जुगाड़ लगा रहे हैं, तो केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर अपने बेटे देवेंद्र के लिये.

यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव : वोटरों को रिझाने के लिए जादू करेगी बीजेपी!

टिप्पणियां

पार्टी अध्यक्ष कहकर गये परिवारवाद टिकट में नहीं चलेगा, लेकिन राष्ट्रीय महासचिव मानते हैं नेता पुत्र होना दोष नहीं है, कैलाश विजयवर्गीय ने कहा  किसी नेता का पुत्र होना कोई दोष नहीं होता, यदि वह इस योग्य होगा तो निश्चित रूप से पार्टी उस पर विचार करेगी. बीजेपी कांग्रेस पर वंशवाद के आरोप लगाती है, गाहे बगाहे मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ पार्टी दफ्तर में दिखते भी हैं. लेकिन पार्टी को लगता है बीजेपी के वंशवाद की तुलना कांग्रेस के वंशवाद से नहीं की जा सकती.

VIDEO: एमपी में मुआवजा नहीं तो वोट नहीं.

कांग्रेस प्रवक्ता  शोभा ओझा ने कहा वंशवाद सबसे ज्यादा बीजेपी में है, मप्र तो है ही उसके अलावा धूमल जी का बेटा, तो राजनाथ जी का बेटा, तो यहां शिवराज जी का बेटा, ताई का बेटा, कैलाश जी का बेटा, कैलाश जोशी का बेटा आप नाम लेते जाएं लिस्ट खत्म नहीं होगी वंशवाद पूरी तरह हावी है लेकिन बीजेपी दर्शाती रही है कि वंशवाद कांग्रेस में है. शिवराज के सुपुत्र कार्तिकेय भी चुनावी सभाओं में नजर आ जाते हैं, हालांकि फिलहाल वो टिकट के दावेदार नहीं लेकिन कुल मिलाकर इस बार 17 से ज्यादा नेतापुत्र कमल के फूल से चुनावी मोर्चे पर डटना चाहते हैं.



दिल्ली चुनाव (Elections 2020) के LIVE चुनाव परिणाम, यानी Delhi Election Results 2020 (दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट 2020) तथा Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... कियारा आडवाणी ने दोस्‍त की शादी में अपने लहंगों से मचाई धूम, देखें Photos

Advertisement