NDTV Khabar

बीजेपी ने पार्टी के 'नेता पुत्रों' को सड़क के रास्ते सत्ता में पहुंचाने का प्लान बनाया

मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के खिलाफ आंदोलन का नेतृत्व करेंगे भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेताओं के पुत्र

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी ने पार्टी के 'नेता पुत्रों' को सड़क के रास्ते सत्ता में पहुंचाने का प्लान बनाया

मध्यप्रदेश के बीजेपी के नेताओं ने अपने पुत्रों को कमलनाथ सरकार के खिलाफ आंदोलन का नेतृत्व सौंपने की योजना बनाई है.

खास बातें

  1. भारतीय जनता युवा मोर्चा के बैनर तले आंदोलन किया जाएगा
  2. आंदोलन करने वाले 31 युवा नेताओं में 10 बड़े नेता पुत्र शामिल
  3. कांग्रेस ने कहा- प्लेटफार्म बनाया जा रहा है अगले चुनावों में टिकट के लिए
भोपाल:

वंशवाद को लेकर अक्सर दूसरे दलों पर हमलावर रहने वाली बीजेपी के नेता अपने पुत्रों को राजनीतिक प्लेटफॉर्म देने में जुट गए हैं. मध्यप्रदेश बीजेपी में नेताओं ने अपने बच्चों को सड़क के रास्ते सत्ता पर बिठाने का प्लान ढूंढा है. प्लान कमलनाथ सरकार के खिलाफ आंदोलन का है. इसकी कमान शिवराज सिंह चौहान से लेकर कई नेता पुत्रों के हाथ में रहेगी... नाम रहेगा भारतीय जनता युवा मोर्चा का. भारतीय जनता युवा मोर्चा के बैनर तले आंदोलन को संभालेंगे कुल 31 युवा नेता जिसमें 10 बड़े नेता पुत्र भी हैं.

शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय चौहान, सांसद प्रभात झा के बेटे तुष्मुल झा, नरेंद्र सिंह तोमर के बेटे देवेंद्र प्रताप सिंह तोमर, पूर्व मंत्री गौरी शंकर शेजवार के बेटे मुदित शेजवार, नरोत्तम मिश्रा के बेटे सुकर्ण मिश्रा, दीपक जोशी के बेटे जयवर्धन जोशी, अर्चना चिटनीस के बेटे समर्थ चिटनीस, सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के बेटे हर्षवर्धन सिंह चौहान जैसे कई नाम मध्यप्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को घेरने के लिए सड़क पर उतनरे वालों में शामिल होंगे.

वन मंत्री का दिग्विजय पर एक और हमला, कहा- जनता की सरकार है; किसी नेता की नहीं


पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय चौहान का सुझाव था कि युवा नेता घंटानाद करें, जिसकी शुरुआत मुख्यमंत्री आवास के घेराव से हो.

कमलनाथ की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, 1984 के सिख विरोधी दंगे की फाइल खोलने की गृह मंत्रालय की हरी झंडी

हालांकि बीजेपी को नहीं लगता कि यह वंशवाद है. वह तो उल्टा कांग्रेस पर ही आरोप लगा रही है. बीजेपी प्रवक्ता राजो मालवीय ने कहा आप जिन नामों का जिक्र कर रहे हैं उनका प्रारंभिक इतिहास उठाकर देखेंगे तो वे बाल्यकाल से कार्यकर्ता हैं. वे सिर्फ इसलिए नेता नहीं बने कि किसी मां के गर्भ से पैदा हुए इसलिए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बना दिया जाएं. जो कार्यकर्ता की पद्धति से निकलकर आए हैं उन पर उंगली नहीं उठा सकते. हमको बहुत आनंद आता अगर राहुल गांधी एक तहसील के अध्यक्ष बनकर भी आते. लगता कि वास्तव में संघर्ष किया है.

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने राज्य के बीजेपी सांसदों को चिट्ठी लिखकर लगाई गुहार

बीजेपी गांधी परिवार को लेकर कांग्रेस को घेरती रही है, तो इस प्लान पर कांग्रेस को बीजेपी पर हमला करने का मौका मिला है. कांग्रेस प्रवक्ता नरेन्द्र सलूजा ने कहा बीजेपी खुद प्लेटफॉर्म तैयार करके दे रही है. वंशवाद को लेकर कांग्रेस को कोसती है लेकिन सबसे बड़ा वंशवाद बीजेपी में है. सारे नेता पुत्रों को जवाबदारी दी है, जिसके वे लायक नहीं हैं. कार्यकर्ता जवाबदारी के लायक हैं, सालों से मेहनत कर रहे हैं. लेकिन आंदोलन का नेतृत्व उन्हें दिया जा रहा है जो नेता के पुत्र हैं. ताकि फिर नगर निगम के चुनाव हैं, वहां टिकट मिलें, महापौर का पद है. करोड़ों कार्यकर्ताओं का हक़ मार सकें इसके लिए प्लानिंग के तहत यह सब हो रहा है.

BJP नेता की गुंडागर्दी: टोल टैक्स मांगने पर कर्मचारी को जमकर पीटा, देखें वायरल VIDEO

VIDEO : 1984 के दंगों का मामला फिर खुलेगा, बढ़ सकती है कमलनाथ की परेशानी

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement