NDTV Khabar

Exclusive: BJP की कई योजनाएं रोककर क्या बदले की राजनीति कर रही छत्तीसगढ़ सरकार? CM भूपेश बघेल ने दिया यह जवाब

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) को पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने बल्ला भेंट किया, वैसे हरभजन बतौर गेंदबाज़ ज्यादा पहचाने जाते हैं, लेकिन लगता है भूपेशजी उसी बल्ले से दनादन बैटिंग कर रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Exclusive: BJP की कई योजनाएं रोककर क्या बदले की राजनीति कर रही छत्तीसगढ़ सरकार? CM भूपेश बघेल ने दिया यह जवाब

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल.

भोपाल:

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) को पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने बल्ला भेंट किया, वैसे हरभजन बतौर गेंदबाज़ ज्यादा पहचाने जाते हैं, लेकिन लगता है भूपेशजी उसी बल्ले से दनादन बैटिंग कर रहे हैं. मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने बीजेपी सरकार की कई योजनाएं रोक दीं, दीनदयालजी का नाम कई योजनाओं से हटा दिया. जानिय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने NDTV से बातचीत के दौरान क्या दिया जवाब...

यह भी पढ़ें- छत्तीसगढ़: नान और अवैध फोन टेपिंग मामले में दो IPS अधिकारी निलंबति, FIR दर्ज

सर विपक्ष कह रहा है आप बदलापुर की राजनीति कर रहे हैं?


पहला सवाल ये है कि क्या उन्होंने हमारे खिलाफ कोई बदले की कार्रवाई की, अगर नहीं की तो क्रिया की प्रतिक्रिया होगी तो. उन्होंने यदि कुछ नहीं किया है तो बदला कुछ नहीं है. हम गांधीजी के रास्ते पर चल रहे हैं, सत्य के रास्ते पर और सत्याग्रह करना हमारा अधिकार है. न्याय दिलाना भी तो बदला अलग बात है और न्याय के लिये लड़ना दूसरी बात है . झीरम घाटी में हमारे नेता शहीद हुए अभी हमने एनआईए के पत्र लिखा था कि केस वापस कर दें हमने एसआईटी का गठन कर दिया है, लेकिन केंद्र सरकार ने दुर्भावनवश हमको अनुमति नहीं दी है. इसका मतलब यह है कि वह नहीं चाहते कि झीरम घाटी के तह में कोई जाए. पूरे विश्व में राजनेताओं के नरसंहार का ये पहला उदाहरण है और उसके अगर तथ्य उजागर हों तो किसकी तकलीफ होगी और अगर बीजेपी की केंद्र सरकार अनुमति नहीं दे रही है तो इससे स्पष्ट हो जाता है कि दाल में कहीं कुछ काला है.

सर लेकिन 8000 से ज्यादा योजनाएं आपने बंद करवा दीं, बहुत सारी योजनाओं के नाम जो दीनदयाल जी के नाम पर थे उसे राजीव या इंदिरा जी के नाम पर कर दिया?

देखिये जो 8500 कार्य स्वीकृत हुए वह कब किए जब चुनाव सिर पर था और वो काम शुरू नहीं हो पाया. चुनाव अक्तूबर-नवंबर में था और वो शुरू नहीं हो पाया. इसका मतलब था आपने आनन-फानन में उसको स्वीकृति दी है ताकि वो वोट में बदल सके तो जनता ने उसको नकार दिया तो आपको स्वीकृत कार्य को जनता ने नकार दिया. नई सरकार है उसकी अपनी प्राथमिकता है हम कर्ज़ माफी, हमारे 2500 रु. धान, नये-नये उद्योग लगाएं तो ये हमारी प्राथमिकता है ताकी लोगों को रोज़गार मिल सके. हम ऐसा कोई काम नहीं कर सकते, जिससे लोगों के जीवन स्तर को लेकर कोई फर्क नहीं पड़े. उन्होंने कहा, डीएमएफ फंड जिसमें 2500 करोड़ रुपये था आपने 4000 करोड़ रु के काम स्वीकृत कर दिये. बजट आपके पास 2500 करोड़ है, मतलब जो आपने स्वीकृत कर दिया तो काम हम करते जाएं तब तो कार्यकाल ही बीत जाएगा. नंबर दो क्या उस फंड से वहां जो खदान से प्रभावित लोग थे उनके जीवन स्तर पर कोई प्रभाव पड़ा है? यही नहीं आया है तो आपने जो निर्णय लिया था वो ग़लत था तो आखिर उसकी समीक्षा करके गुण-दोष के आधार पर हमलोग आगे बढ़ेंगे.

 

 

मुख्यमंत्री ने कहा, दीनदयाल का छत्तीसगढ़ में कोई योगदान नहीं है. दीनदयाल को छत्तीसगढ़ में कोई जानता भी नहीं है. एक आईएएस अधिकारी ने ट्वीट किया था मुझे याद है दीनदयाल के बारे में कोई जानकारी हो तो बताएं, मुझे जानकारी नहीं है और इतना ही उसने फेसबुक में डाला तो उनका ट्रांसफर कर दिया गया. उनको सज़ा दे दी गई. ये जो मानसिकता है वह ग़लत है. छत्तीसगढ़ में जिन महापुरुषों का योगदान है उनके नाम से चाहे वो सड़क हो, बिल्डिंग हो, योजना हो, परियोजना हो वह होना चाहिये और उसमें इन लोगों ने भी वही किया था. 2003 में जब इनकी सरकार बनी थी तो हमारे राष्ट्रीय नेताओं के नाम से जितनी योजनाएं चल रही थीं, उसको बदल दिया था तो इसमें एक विभाग ने अगर कुछ बदलाव किया है तो इसमें उनको आपत्ति नहीं होना चाहिये.

छत्तीसगढ़ः कांग्रेस सरकार ने सात योजनाएं के नाम बदले तो बीजेपी तिलमिलाई

बहुचर्चित नान घोटाले में अधिकारियों पर कार्रवाई हो गई, लेकिन डायर में जो मैडम सीएम थीं क्या जांच की आंच वहां तक जाएगी?

वो सारे खुलासे होंगे. हमने एसआईटी गठन इसलिये किया है. आपने 2014 में कार्रवाई की डायरी पकड़ी. 2012 में उसमें तो आपने जांच किया ही नहीं. अब बिना जांच किये कार्रवाई कर दी. उन लोगों को छोड़ भी दिया. तीसरी बात मैं कहना चाहूंगा कि आपको अधिकार दिया गया है कि लोगों को न्याय मिले, जांच करें, लेकिन आप अगर जांच ही दोषपूर्ण हो तो न्याय कैसे मिलेगा. जहां तक की तत्काली ईओडब्लू चीफ थे तो उन्होंने बग़ैर इजाज़त फोन टैपिंग करवा दिया तो ये तो निजता का हनन है. सिर्फ अधिकारियों का नहीं बल्कि अन्य लोगों का जिसमें राजनेता भी हैं, पत्रकार भी हैं ... तो उन्होंने अपने अधिकारों का दुरुपयोग किया इसलिये उन्हें सस्पेंड किया गया है. छत्तीसगढ़ का जो सरकारी खज़ाना है वो जनता का है चंद मुठ्ठी भर लोगों का नहीं है. इसलिये अगर किसी ने कोई गड़बड़ी की है तो उनके खिलाफ कार्रवाई तो होना चाहिये.

राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ में हटाया गया सरकारी स्कीमों के साथ दीनदयाल उपाध्याय का नाम

नंदिनी सुंदर पर जो एफआईआर थी, उस वक्त कल्लूरी जी पर आपने आरोप लगाया था लेकिन आज जब आप सत्ता में आए तो कल्लूरी जी को पुरस्कृत कर रहे हैं?

उस समय हमलोगों ने कहा कि ग़लत किया है, इसलिये हमने फिर से जांच कराई और उस आधार पर कोर्ट में चालान प्रस्तुत किया जाएगा. जहां तक कल्लूरी का मामला है वो तो वैसे भी लूपलाइन में हैं, उन्हें कोई ज़िम्मेदारी तो दी नहीं है. एक नान की जांच करने का ज़िम्मा दिया है वह भी इसलिये कि रमन सिंह के सबसे विश्वसनीय अधिकारी थे तो उन्हीं के ख़िलाफ जांच करेंगे तो सही जांच करेंगे, उनको आपत्ति नहीं होनी चाहिये. उनको फील्ड की ज़िम्मेदारी हमने नहीं दी है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल का किसानों को बड़ा तोहफा, 15 लाख किसानों का सिंचाई कर माफ

आपके पिता ने आपको ज्ञापन सौंपा बहुत सक्रिय रहते हैं ... कहते हैं राहुलजी बतौर सेनापति मज़बूत हैं लेकिन सेना में कुछ लोग कमज़ोर हैं कहीं इशारा पूनिया जी की तरफ तो नहीं है?

वह स्वतंत्र विचार के व्यक्ति हैं. पुराने समाजवादी हैं उन्हें ना तो हम बांध सकते हैं ना रोक सकते हैं. वो अपने मन के मालिक हैं और वो इस प्रकार से काम करते रहते हैं वैचारिक रूप से मेरी उनकी पटती नहीं है. पिताजी हैं डांट भी देते हैं.

प्रियंका जी से गुज़ारिश करेंगे छत्तीसगढ़ में भी आकर प्रचार करें?

टिप्पणियां

प्रियंका जी पहले भी सक्रिय रही हैं, लेकिन वो पर्दे के पीछे रहती थीं और अमेठी और रायबरेली तक अपने आपको सीमित करके रखा था. पूरे देश के कार्यकर्ताओं की मांग थी कि सक्रिय राजनीति में आएं और ज़िम्मेदारी का निर्वहन करें और कार्यकर्ताओं के मांग पर उन्होंंने पद स्वीकार किया और पूरे देश के कार्यकर्ताओं में ख़ासकर युवाओं में जबर्दस्त उत्साह है मैं पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के दौरे पर था वहां प्रियंका जी के आने से एक जबर्दस्त लहर पैदा हुई है एक आकर्षण उनके व्यक्तित्व में है, यूपी सहित पूरे देश में उसका असर होगा.

VIDEO: छत्तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल बोले- गोली के बदले गोली की नीति बदलेगी सरकार​


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement