NDTV Khabar

बिलासपुर हाईकोर्ट ने छत्तीसगढ़ में संसदीय सचिवों की नियुक्ति को सही ठहराया

आपको बता दें कि इस फैसले पर पूरे देश की निगाहें लगी थीं क्योंकि कुछ दिन पहले ही दिल्ली में लाभ के पद के मामले में आम आदमी पार्टी की सरकार कोर्ट जा चुकी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिलासपुर हाईकोर्ट ने छत्तीसगढ़ में संसदीय सचिवों की नियुक्ति को सही ठहराया

प्रतीकात्मक फोटो

रायपुर: दिल्ली सरकार में संसदीय सचिवों की नियुक्ति के मामले के बाद सबकी निगाहें छत्तीसगढ़ की तरफ थीं. बिलासपुर हाईकोर्ट से जब फैसला आए तो रमन सिंह सरकार ने राहत की सांस ली. हाईकोर्ट ने अपने फैसले में संसदीय सचिवों की नियुक्ति को सही ठहराते हुए इसे बरकरार रखा है. हाईकोर्ट की चीफ जस्टिस राधाकृष्णन और जस्टिस शरद गुप्ता की खंडपीठ ने ये फैसला सुनाया. 

लाभ के पद का मामला: AAP के 20 विधायकों को दिल्ली HC से राहत, अयोग्यता का फैसला रद्द

टिप्पणियां
कोर्ट ने हालांकि ये भी कहा है कि अंतरिम आदेश स्थाई रुप से जारी रहेगा। अंतरिम आदेश में कोर्ट ने कहा था कि, इन्हें मंत्रियों वाले कोई अधिकार अथवा सुविधा नहीं मिलेगी। कोर्ट ने फ़ैसले में कहा है कि, संसदीय सचिव पद जो कि मंत्री के समतुल्य है उसे राज्यपाल ने शपथ नही दिलाई ना ही उनका निर्देशन है इसलिए इन्हें मंत्रियों के कोई अधिकार प्राप्त नहीं हो सकते.

वीडियो : आप के 20 विधायकों की सदस्यता बहाल

रमन सिंह सरकार ने राज्य में 11 संसदीय सचिवों की नियुक्ति की थी. इस मामले में कांग्रेस नेता मोहम्मद अकबर और आरटीआई एक्टिविस्ट राकेश चौबे ने याचिका दाखिल की थी. मामले में 2 फरवरी को बहस पूरी हो गई थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement