छत्तीसगढ़ के बालोद ज़िले में दो गांवों के बीच मनरेगा के काम और सीमा विवाद को लेकर ज़बरदस्त मारपीट

छत्तीसगढ़ के बालोद ज़िले में गुरूर ब्लॉक के दो गांवों के बीच मनरेगा के काम औरर सीमा विवाद को लेकर ज़बरदस्त मारपीट का मामला सामने आया है.

छत्तीसगढ़ के बालोद ज़िले में दो गांवों के बीच मनरेगा के काम और सीमा विवाद को लेकर ज़बरदस्त मारपीट

छत्तीसगढ़ के बालोद ज़िले में दो गांवों के लोगों के बीच मारपीट.

रायपुर:

छत्तीसगढ़ के बालोद ज़िले में गुरूर ब्लॉक के दो गांवों के बीच मनरेगा के काम औरर सीमा विवाद को लेकर ज़बरदस्त मारपीट का मामला सामने आया है जिसमें दोनों गांव के लगभग 50 लोग घायल हो गये. घायलों को इलाज के लिये स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई और मामले की जांच की जा रही है.

महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत पेवरो और घोघोपुरी के बीच काम चल रहा था, तभी भूमि सीमांकन को लेकर गांववालों में बहस शुरू हो गई, दोनों गांवों के लोग एक-दूसरे पर कब्जे का आरोप लगाने लगे. थोड़ी ही देर में बात बढ़ती चली गई और मारपीट शुरू हो गई.  

सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई है. पुलिस के मुताबिक 60 से अधिक ग्रामीणों के बीच मारपीट हुई है. एडिश्नल एसपी डीआर पोर्ते ने कहा थाना गुरूर के अंतर्गत दो गांवों में लड़ाई की सूचना मिलने पर थाना प्रभारी वहां गये थे कुछ लोगों को चोट लगी है जिसकी जांच कराई गई है, अभी वहां तहसीलदार सीमांकन भी करवा रहे हैं.


 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com