NDTV Khabar

छत्तीसगढ़ में अब 12वीं तक शिक्षा मुफ्त, CM भूपेश बघेल के मंत्रिमंडल बैठक में हुए 19 बड़े फैसले

छत्‍तीसगढ़ में अब 12वीं तक की शिक्षा एवं पाठ्य पुस्‍तक मुफ्त दी जाएगी. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रालय में मंत्रिमंडल की बैठक में अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
छत्तीसगढ़ में अब 12वीं तक शिक्षा मुफ्त, CM भूपेश बघेल के मंत्रिमंडल बैठक में हुए 19 बड़े फैसले

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. छत्तीसगढ़ में अब 12वीं तक मुफ्त शिक्षा
  2. सीएम भूपेश बघेल की मंत्रिमंडल बैठक
  3. लिए गए कई अहम फैसले
रायपुर:

छत्‍तीसगढ़ में अब 12वीं तक की शिक्षा एवं पाठ्य पुस्‍तक मुफ्त दी जाएगी. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में बुधवार को मंत्रालय में मंत्रिमंडल की बैठक में अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिए. सीएम बघेल ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर भी बैठक में लिए गए फैसलों की पूरी सूची दी है. मंत्रिमंडल की बैठक में अशासकीय स्कूलों के प्रवेश शुल्क संबंधी शिकायतों और विसंगतियों को दूर करने के लिए समिति का गठन करने का निर्णय लिया गया. राज्य के मंत्री रविंद्र चौबे ने बताया कि राज्य में शिक्षा के अधिकार के अंतर्गत अभी तक केवल कक्षा आठवीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए निःशुल्क शिक्षा एवं पाठ्य पुस्तक की व्यवस्था की जाती है. अब यह सुविधा कक्षा नवमी से बारहवीं तक के विद्यार्थियों को भी उपलब्ध करायी जाएगी.

दोबारा अखिलेश के साथ आएंगे शिवपाल यादव? कौन बन रहा है राह में रोड़ा


मालूम हो कि बस्तर में बैलाडिला के पहाड़ों पर हज़ारों की तादाद में आदिवासी अपने जंगल और पहाड़ को बचाने के लिए जुट गए हैं. उनका इरादा अनिश्चितकालीन आंदोलन चलाने का है. फिलहाल राज्य के कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने बताया कि मंत्रिमंडल की बैठक में फैसला किया गया कि खाद्यान्न सुरक्षा प्रदान करने की दृष्टि से राज्य के सभी 65 लाख परिवारों को राशन कार्ड से लाभान्वित किया जाएगा. 

चौबे ने बताया कि नए राशन कार्ड बनने तक वर्तमान राशन कार्डधारियों को पुराने राशन कार्ड से सामग्री मिलती रहेगी. परिवार में मात्र एक सदस्य होने पर 10 किलो चावल मिलेगा, दो सदस्य होने पर 20 किलो तथा तीन से पांच सदस्य होने पर 35 किलो चावल मिलेगा. पांच से अधिक सदस्य होने पर प्रति सदस्य की दर से 7-7 किलो चावल अतिरिक्त दिया जाएगा. वहीं अंत्योदय श्रेणी के राशनकार्ड पर एक रूपए प्रति किलोग्राम की दर से 35 किलोग्राम चावल देने की योजना भी जारी रहेगी.

कांग्रेस की हार पर बोलीं प्रियंका गांधी, 'मैं भाषण नहीं देना चाहती, पर मुझे सच बोलने दो'

उन्होंने बताया कि अटल नगर, अटल नगर विकास प्राधिकरण और अटल स्मार्ट सिटी कार्पोरेशन के नाम के आगे अब ‘नवा रायपुर‘ जोड़ा जाएगा. पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की सरकार ने नया रायपुर का नाम अटल नगर कर दिया था. अब कांग्रेस की नई सरकार ने नाम के आगे 'नवा रायपुर' जोड़ने का फैसला किया है. नवा छत्तीसगढ़ का शब्द है जिसका मतलब नया होता है. 

टिप्पणियां

(इनपुट भाषा से भी)

Video: छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने बताया- क्यों अहम है कांग्रेस की CWC मीटिंग



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement