SP ने मंत्री के कहने पर नहीं किया टीआई का तबादला, तो सरकार ने उन्हीं का कर दिया ट्रांसफर

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार तबादलों को लेकर विवादों में घिर गई है. ताजा मामला सुकमा जिले के एसपी जितेंद्र शुक्ला के तबादले से जुड़ा हुआ है.

SP ने मंत्री के कहने पर नहीं किया टीआई का तबादला, तो सरकार ने उन्हीं का कर दिया ट्रांसफर

आईपीएस जितेंद्र शुक्ला (IPS Jitendra Shukla) के तबादले के बाद विवाद शुरू हो गया है.

खास बातें

  • सुकमा के एसपी थे जितेंद्र शुक्ला
  • उनका तबादला पुलिस मुख्यालय कर दिया गया है
  • तबादले के बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखी है
रायपुर :

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार तबादलों को लेकर विवादों में घिर गई है. ताजा मामला सुकमा जिले के एसपी जितेंद्र शुक्ला के तबादले से जुड़ा हुआ है. दरअसल, सुकमा जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने एसपी जितेंद्र शुक्ला को एक टीआई के तबादले के लिए पत्र लिखा था और इस पत्र को अपने एक कार्यकर्ता के हाथों एसपी के पास भेजा था. एसपी जितेंद्र शुक्ला ने कवासी लखमा को जवाबी पत्र लिखते हुए कहा कि 'जिले की कानून व्यवस्था उनकी जिम्मेदारी है और अधिनस्थ कर्मियों का तबादला कहां करना है, यह एसपी का विशेषाधिकार भी है'. एसपी जितेंद्र शुक्ला ने अपने पत्र में टीआई के तबादले से भी साफ मना कर दिया. 

 

rqbucfg8


बताया जा रहा है कि इससे नाराज प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री और गृहमंत्री से कर दी. इसके बाद एसपी का तबादला कर दिया गया और उन्हें पुलिस मुख्यालय भेज दिया गया. इस बारे में सीएम भूपेश बघेल ने रविवार को मीडिया से कहा कि एसपी ने प्रभारी मंत्री को पत्र लिखा, जो उनका अधिकार नहीं है. इसी वजह से उन्हें हटाया गया है. तबादले के बाद एसपी जितेंद्र शुक्ला ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखकर सरकार के इस फैसले को, 'अप्रत्याशित और अवांछित' बताया है. 

0fq4kis8

जितेंद्र शुक्ला ने अपनी पोस्ट में लिखा, ' कही भी पोस्टिंग रहेगी तो भी मैं अपनी जगह लोगों के दिलों में बना लूंगा. अपना काफिला इसी तरह बढ़ता जाएगा. बस्तर पुलिस का पार्ट होना मेरे लिए गर्व की अनुभूति है और हमेशा रहेगी. अलविदा सुकमा'. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शपथ लेने के साथ ही व्यापक रूप से प्रशासनिक फेरबदल करने की शुरुआत कर दी थी और शपथ लेने के तुरंत बाद ही चार आईपीएस अफसरों और छह आईएएस अफसरों के प्रभार में परिवर्तन कर दिया था. इसके बाद से नियमित अंतराल पर तबादले हो रहे हैं. 

राहुल गांधी बोले, किसानों का कर्ज माफ करवाने के बाद ही दम लेंगे​