NDTV Khabar

SP ने मंत्री के कहने पर नहीं किया टीआई का तबादला, तो सरकार ने उन्हीं का कर दिया ट्रांसफर

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार तबादलों को लेकर विवादों में घिर गई है. ताजा मामला सुकमा जिले के एसपी जितेंद्र शुक्ला के तबादले से जुड़ा हुआ है.

4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
SP ने मंत्री के कहने पर नहीं किया टीआई का तबादला, तो सरकार ने उन्हीं का कर दिया ट्रांसफर

आईपीएस जितेंद्र शुक्ला (IPS Jitendra Shukla) के तबादले के बाद विवाद शुरू हो गया है.

खास बातें

  1. सुकमा के एसपी थे जितेंद्र शुक्ला
  2. उनका तबादला पुलिस मुख्यालय कर दिया गया है
  3. तबादले के बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखी है
रायपुर :

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार तबादलों को लेकर विवादों में घिर गई है. ताजा मामला सुकमा जिले के एसपी जितेंद्र शुक्ला के तबादले से जुड़ा हुआ है. दरअसल, सुकमा जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने एसपी जितेंद्र शुक्ला को एक टीआई के तबादले के लिए पत्र लिखा था और इस पत्र को अपने एक कार्यकर्ता के हाथों एसपी के पास भेजा था. एसपी जितेंद्र शुक्ला ने कवासी लखमा को जवाबी पत्र लिखते हुए कहा कि 'जिले की कानून व्यवस्था उनकी जिम्मेदारी है और अधिनस्थ कर्मियों का तबादला कहां करना है, यह एसपी का विशेषाधिकार भी है'. एसपी जितेंद्र शुक्ला ने अपने पत्र में टीआई के तबादले से भी साफ मना कर दिया. 

 

rqbucfg8


बताया जा रहा है कि इससे नाराज प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री और गृहमंत्री से कर दी. इसके बाद एसपी का तबादला कर दिया गया और उन्हें पुलिस मुख्यालय भेज दिया गया. इस बारे में सीएम भूपेश बघेल ने रविवार को मीडिया से कहा कि एसपी ने प्रभारी मंत्री को पत्र लिखा, जो उनका अधिकार नहीं है. इसी वजह से उन्हें हटाया गया है. तबादले के बाद एसपी जितेंद्र शुक्ला ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखकर सरकार के इस फैसले को, 'अप्रत्याशित और अवांछित' बताया है. 

0fq4kis8

जितेंद्र शुक्ला ने अपनी पोस्ट में लिखा, ' कही भी पोस्टिंग रहेगी तो भी मैं अपनी जगह लोगों के दिलों में बना लूंगा. अपना काफिला इसी तरह बढ़ता जाएगा. बस्तर पुलिस का पार्ट होना मेरे लिए गर्व की अनुभूति है और हमेशा रहेगी. अलविदा सुकमा'. 

टिप्पणियां

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शपथ लेने के साथ ही व्यापक रूप से प्रशासनिक फेरबदल करने की शुरुआत कर दी थी और शपथ लेने के तुरंत बाद ही चार आईपीएस अफसरों और छह आईएएस अफसरों के प्रभार में परिवर्तन कर दिया था. इसके बाद से नियमित अंतराल पर तबादले हो रहे हैं. 

राहुल गांधी बोले, किसानों का कर्ज माफ करवाने के बाद ही दम लेंगे​


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement