भूपेश बघेल ने नितिन गडकरी को लिखा पत्र, राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण कार्यों की गति बढ़ाने का अनुरोध

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखकर राज्य में राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण कार्यों की गति बढ़ाने का अनुरोध किया है.

भूपेश बघेल ने नितिन गडकरी को लिखा पत्र, राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण कार्यों की गति बढ़ाने का अनुरोध

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल.

खास बातें

  • सीएम भूपेश बघेल ने नितिन गडकरी को लिखा पत्र
  • राज्य में राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण कार्यों की गति बढ़ाए मंत्री
  • रायगढ़-धरमजयगढ़ मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने का आग्रह किया
रायपुर:

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखकर राज्य में राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण कार्यों की गति बढ़ाने का अनुरोध किया है. राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बुधवार को यहां बताया कि मुख्यमंत्री बघेल ने केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री गडकरी को पत्र लिखकर उनसे छत्तीसगढ़ राज्य में निर्माणाधीन राष्ट्रीय राजमार्गों में निर्माण कार्यों की गति बढ़ाने और अंबिकापुर-भैसामुड़ा-वाड्रफनगर-धनगांव-बम्हनी-रेनुकुट मार्ग (छत्तीसगढ़ में लम्बाई 110 किलोमीटर) तथा रायगढ़-धरमजयगढ़ मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने का आग्रह किया है.

अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 149बी चांपा-कोरबा-कटघोरा मार्ग के उन्नयन और चौड़ीकरण कार्य की भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) से शीघ्र स्वीकृति जारी करने का अनुरोध भी किया है. बघेल ने पत्र में लिखा है कि राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 30 मार्ग का निर्माण कार्य एनएचएआई के माध्यम से कराया जा रहा है. कार्य लगभग दो वर्ष बंद रहने के बाद प्रारंभ किया गया है, लेकिन कार्य की गति अत्यंत धीमी है. उन्होंने कार्य की गति बढ़ाने के लिए एनएचएआई को निर्देशित करने का आग्रह किया है.

मुख्यमंत्री ने पत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 43 की स्थिति खराब होने की जानकारी दी है तथा राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 111 में वर्षाऋतु से पहले नए पुल का निर्माण कराने का आग्रह किया है. अधिकारियों ने बताया कि बघेल ने पत्र में उल्लेख किया है कि राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 216 रायगढ़-सारंगढ़-सरायपाली मार्ग का निर्माण कार्य मार्च 2015 में प्रारंभ किया गया था. कार्य की गति प्रारंभ से ही धीमी है। यह कार्य पांच वर्ष के बाद भी अधूरा है. मुख्यमंत्री ने अंबिकापुर-वाड्रफनगर उत्तरप्रदेश सीमा तक मार्ग के संबंध में पत्र में लिखा है कि छत्तीसगढ़ राज्य में आदिवासी बहुल जिले में अंबिकापुर-वाड्रफनगर मार्ग की लम्बाई 110 किलोमीटर है. 

यह मार्ग छत्तीसगढ़ राज्य के अंबिकापुर से बनारस (उत्तर प्रदेश) को जोड़ने वाला अंतर्राज्यीय महत्व का है. अंबिकापुर राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 43 पर स्थित है और रेनुकुट राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 39 पर स्थित है तथा प्रस्तावित मार्ग पर यातायात घनत्व अधिक है. यह अंतर्राज्यीय मार्ग यातायात की दृष्टि से राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने योग्य है. इसलिए अंबिकापुर-भैसामुड़ा-वाड्रफनगर-धनगांव-बम्हनी-रेनुकुट (छत्तीसगढ़ में लम्बाई 110 किलोमीटर) को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किया जाना चाहिए. इसी तरह उन्होंने रायगढ़-धरमजयगढ़ मार्ग को भी राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने की मांग की है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com