मध्यप्रदेश की संस्कृति मंत्री ने कहा- अवैध शराब विक्रेताओं की ‘ठुकाई-पिटाई’ भी करेंगी महिलाएं

संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने कहा- हम गांव-गांव में माता-बहनों की समितियां बनाकर इस उद्देश्य से जन-जागरण अभियान में लगे हैं कि लोग शराब से दूर रहें

मध्यप्रदेश की संस्कृति मंत्री ने कहा- अवैध शराब विक्रेताओं की ‘ठुकाई-पिटाई’ भी करेंगी महिलाएं

मध्यप्रदेश की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर (फाइल फोटो).

इंदौर:

नशे के खिलाफ मध्यप्रदेश सरकार के जारी अभियान की राज्य की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर (Usha Thakur) ने सोमवार को जमकर पैरवी की. उन्होंने अवैध शराब विक्रेताओं को चेतावनी भी दी कि अगर उन्होंने अपना कारोबार बंद नहीं किया, तो महिलाएं जरूरत पड़ने पर उन्हें पीट भी सकती हैं. ठाकुर ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम गांव-गांव में माता-बहनों की समितियां बनाकर इस उद्देश्य से जन-जागरण अभियान में लगे हैं कि लोग शराब से दूर रहें. ये समितियां अवैध शराब और नशा बेचने वाले लोगों की पहचान कर उन्हें पुलिस-प्रशासन के हवाले करेंगी. जरूरत पड़ने पर माता-बहनें ऐसे लोगों की ठुकाई-पिटाई भी करेंगी.'' 

सूबे में शराबबंदी की मांग पर संस्कृति मंत्री ने कहा, ‘‘शराब पर रोक लगाना कोई कठिन काम नहीं है. पर इस कटु सत्य को सारी दुनिया जानती है कि जहां-जहां शराब पर प्रतिबंध लगा है, वहां शराब और ज्यादा मात्रा में बिकती है.'' 


किसान आंदोलन पर BJP के हमले, MP की कैबिनेट मंत्री ने किसान प्रतिनिधियों को बताया 'दलाल'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ठाकुर, राज्य का अध्यात्म मंत्रालय भी संभाल रही हैं. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए पश्चिमी मध्यप्रदेश में निकाली गईं वाहन रैलियों पर कुछ दिन पहले पथराव और इसके बाद भड़के उपद्रव के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘इस बात में कोई दो मत नहीं है कि जो भी व्यक्ति संविधान का उल्लंघन और उद्दंडता करेगा, वह कठोर दंड पाएगा.''