NDTV Khabar

मंदसौर कांड की पहली बरसी पर आज से किसानों का 10 दिन तक 'गांव बंद' का ऐलान, 170 किसान संगठन शामिल

मध्य प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में आज से 10 जून तक किसानों के 'गांव बंद' को लेकर सरगर्मियां तेज हो चुकी हैं. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मंदसौर कांड की पहली बरसी पर आज से किसानों का 10 दिन तक 'गांव बंद' का ऐलान, 170 किसान संगठन शामिल

मंदसौर कांड की बरसी 6 जून को है.

खास बातें

  1. किसानों का गांव बंद का ऐलान
  2. शहरों को नहीं होगी सप्लाई
  3. 170 किसान संगठन शामिल
भोपाल: मध्यप्रदेश में पिछले साल छह जून को मंदसौर जिले में किसानों पर पुलिस जवानों द्वारा की गई फायरिंग और पिटाई में मारे गए सात लोगों की मौत के एक वर्ष पूरा होने पर किसानों ने शुक्रवार से 10 जून तक 'गांव बंद' आंदोलन का ऐलान किया है.. 6 जून को मंदसौर कांड की पहली बरसी को देखते हुए प्रशासन काफ़ी सजग है. इसलिए गांव बंद के दौरान किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए भिंड पुलिस ने विज्ञप्ति जारी कर किसानों से शांति बरतने की अपील की है.  मिली जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में एक जून से 10 जून तक किसानों के 'गांव बंद' को लेकर सरगर्मियां तेज हो चुकी हैं. 

टिप्पणियां
एक तरफ जहां देश के किसान संगठन इन 10 दिनों में गांवों से खाने-पीने की चीजों की आपूर्ति न करने पर अड़े हैं, वहीं सरकार ने इसे रोकने की कोशिशें भी तेज कर दी है. किसानों का ऐलान है कि गांव बंद के दौरान वे एक जून से 10 जून तक अपने उत्पादन, फल, सब्जी, दूध और अनाज समेत दूसरे उत्पाद शहर नहीं भजेंगे.

राष्ट्रीय किसान महासंघ की अगुवाई में करीब 170 किसान संगठन इसमें भाग ले रहे हैं. छह जून को मंदसौर कांड की बरसी है और चुनावी साल में मध्य प्रदेश में सियासत भी तेज हो गई है. संपूर्ण कर्ज़माफी, किसानों को लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य, फल और सब्जियों का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित करने, 55 साल की उम्र से ज्यादा के किसानों को 7वें वेतन आयोग के मुताबिक पेंशन (करीब 18 हजार रुपए प्रति माह) देने की मांग को लेकर मध्य प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली और महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में किसान संगठनों के एक धड़े ने गांव बंद का ऐलान किया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement