NDTV Khabar

पूर्व सीएम की रिश्तेदार डॉक्टर से अभद्रता, तीन माह बाद मामला दर्ज

जबलपुर में जिला अस्पताल में पदस्थ पूर्व मुख्यमंत्री श्यामाचरण शुक्ला की रिश्तेदार डॉ अर्चना शुक्ला से फरवरी में किया गया था अभद्र व्यवहार

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पूर्व सीएम की रिश्तेदार डॉक्टर से अभद्रता, तीन माह बाद मामला दर्ज

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. डॉ अर्चना शुक्ला ने अभद्रता का दर्द सोशल मीडिया पर बयां किया
  2. एफआईआर दर्ज नहीं होने पर सोशल मीडिया पर इस्तीफा पोस्ट किया
  3. मीडिया में ख़बर आने के बाद आख़िरकार एफआईआर दर्ज हुई
जबलपुर: मध्यप्रदेश के जबलपुर में पूर्व मुख्यमंत्री श्यामाचरण शुक्ला की रिश्तेदार डॉ अर्चना शुक्ला के मामले में तीन महीने
बाद एफआईआर दर्ज हो गई है. जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज की दखल और मीडिया में ख़बर आने के बाद इस
मामले में आख़िरकार एफआईआर दर्ज हुई. 
          
जबलपुर में जिला अस्पताल में पदस्थ डॉ अर्चना शुक्ला ने अपने साथ हुई अभद्रता का दर्द सोशल मीडिया पर बयां
करते हुए लिखा था कि रास्ते में कई बार नकाबपोश गुंडों ने एसिड और डंडे लेकर उनका पीछा किया. मामले में
एफआईआर दर्ज नहीं होने के बाद सोशल मीडिया पर उन्होंने अपना इस्तीफा पोस्ट किया था. अपने इस्तीफे में
उन्होंने लिखा था कि बीजेपी के गुंडे उन्हें लगातार परेशान करते हैं, उनके निजी अंगों में हाथ डालने, इज्जत
उतारने की धमकी देते हैं. मेरा पूरा परिवार इस बात से बहुत आहत है इसलिए मैं अपने पद से इस्तीफा देती हूं.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : महिला डॉक्टर से मारपीट के मामले गुजरात में बीजेपी सांसद को तीन साल कैद की सजा  
    
मामला 7 फरवरी का है जब शाम को उनकी इमरजेंसी ड्यूटी थी. तभी एक महिला 10 महीने की बच्ची को लेकर
इलाज कराने आई. बच्ची को जरूरी दवाएं देकर अगले दिन दोबारा जांच कराने की सलाह महिला को दी गई. इस
पर महिला के साथी बिफर गए और गाली-गलौच करना शुरू कर दी.

VIDEO : डॉक्टरों ने की हड़ताल  
   
इस घटना की सूचना मिलने पर ओमती थाना पुलिस आई. जब शिकायत ओमती पुलिस थाने में की गई तो पुलिस
ने इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं की. वहीं मामले में जबलपुर के पुलिस अधीक्षक सौरभ कुमार ने कहा
सीएसपी ओमती ने पूरे मामले की जांच की और हमने आईपीसी की धारा 294, 506, 186 के तहत मामला दर्ज
किया. चूंकि दोनों तरफ से शिकायत आई थी इसलिए मामले की जांच के बाद कार्रवाई करने में वक्त लगा.
(साथ में संजीव चौधरी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement