NDTV Khabar

MP के पूर्व सीएम बाबूलाल गौर बोले- दिग्विजय ने दिया कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने का ऑफर, मैं कर रहा हूं विचार

बाबूलाल गौर (Babulal Gaur) ने दावा किया है कि दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने उन्हें कांग्रेस (Congress) के टिकट पर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया है. उन्होंने बताया कि उन्हें यह प्रस्ताव भोपाल सीट से लोकसभा चुनाव लड़ने का दिया गया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
MP के पूर्व सीएम बाबूलाल गौर बोले- दिग्विजय ने दिया कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने का ऑफर, मैं कर रहा हूं विचार

बाबू लाल मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता हैं.

खास बातें

  1. एमपी के पूर्व सीएम बाबूलाल गौर का दावा
  2. 'कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने का ऑफर'
  3. 'मैं कर रहा हूं दिग्विजय के ऑफर पर विचार'
भोपाल:

भारतीय जनता पार्टी (BJP)के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम बाबूलाल गौर (Babulal Gaur) ने दावा किया है कि दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने उन्हेंकांग्रेस (Congress)के टिकट पर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया है. उन्होंने बताया कि उन्हें यह प्रस्ताव भोपाल सीट से लोकसभा चुनाव लड़ने का दिया गया था. गौर ने कांग्रेस ज्वाइन करने के दिग्विजय सिंह के प्रस्ताव की रिपोर्ट्स पर कहा, 'वह मेरे पास आए थे. उन्होंने मुझे भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया था. मैंने उन्हें कहा कि मैं इस बारे में सोचूंगा.' बाबू लाल मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता हैं. वह अगस्त 2004 से नवंबर 2005 तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रहे हैं. 

गौर का बयान ऐसे समय पर आया है, जब राज्य में राजनीतिक पार्टियां खरीद-फरोख्त पर बयानबाजी दे रही हैं. हालही प्रदेश की कमलनाथ सरकार गिराने के लिये भाजपा द्वारा विधायकों को धन का लालच दिये जाने के कांग्रेस के आरोपों के बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बयान पर विवाद खड़ा हो गया था.


कैलाश विजयवर्गीय बोले- 'जिस दिन हो जाएगा बॉस का इशारा, उस दिन गिर जाएगी कमलनाथ सरकार'

कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया था कि कमलनाथ सरकार भाजपा की कृपा से चल रही है और जिस दिन भाजपा आलाकमान को छींक भर आ गई, उसी दिन मध्यप्रदेश में भाजपा फिर से सत्ता में आ जायेगी. इंदौर में भाजपा के एक कार्यक्रम के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था, "यह सरकार (कमलनाथ सरकार) कैसी सरकार है? यह सरकार हमारी कृपा से चल रही है. जिस दिन ऊपर से बॉस का इशारा हो जायेगा ना….." 

कमलनाथ सरकार में बगावत? BSP विधायक बोलीं- कर्नाटक जैसी स्थिति नहीं चाहिए, अगर वे मजबूत पार्टी चाहते हैं तो पहले हमें मजबूत बनाएं

साथ ही विजयवर्गीय ने कहा था, "हालिया विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस के फैलाये भ्रम जाल के कारण प्रदेश में वोट थोड़ा इधर-उधर चला गया. लेकिन हमें निराश होने की कोई आवश्यकता नहीं है." विजयवर्गीय ने भाजपा कार्यकर्ताओं को ढांढ़स बंधाते हुए कहा, "प्रदेश हमारे हाथ से चला गया, कोई बात नहीं. प्रदेश कभी भी वापस हमारे पास आ जायेगा. जिस दिन दिल्ली वालों को केवल एक छींक आ जायेगी, उसी दिन प्रदेश में हमारी सरकार बन जायेगी." 

ज्योतिरादित्य सिंधिया की शिवराज सिंह चौहान से बंद कमरे में मुलाकात, 45 मिनट चली बैठक, चर्चाएं जोरों पर

विजयवर्गीय के इस बयान पर कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला ने कहा था, 'विजयवर्गीय की बयानबाजी से साफ है कि चुनावी हार से तिलमिलायी भाजपा कमलनाथ सरकार गिराने के लिये विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है. भाजपा जनादेश का खुलेआम अपमान कर रही है.' उन्होंने यह आरोप भी लगाया था कि विजयवर्गीय अपने बयानों से प्रदेश सरकार के अधिकारियों को धमकाकर उन पर भाजपा नेताओं के गलत काम करने के लिये बेजा दबाव बना रहे हैं.

टिप्पणियां

नेता प्रतिपक्ष का दावा, मंत्रियों के बंगलों की पुताई पूरी होने से पहले गिर जाएगी मध्यप्रदेश सरकार

VIDEO- मिशन 2019 : आखिर क्‍या हो रहा है मध्‍य प्रदेश में?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement