NDTV Khabar

कुंभकर्ण, घंटे और ढोल-मंजीरों के साथ बीजेपी ने पूरे मध्यप्रदेश में किया विरोध प्रदर्शन, कांग्रेस ने दिया जवाब

भोपाल में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और विदिशा में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सड़क पर उतरकर किया आंदोलन

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कुंभकर्ण, घंटे और ढोल-मंजीरों के साथ बीजेपी ने पूरे मध्यप्रदेश में किया विरोध प्रदर्शन, कांग्रेस ने दिया जवाब

भोपाल में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह के नेतृत्व में घंटानाद आंदोलन किया गया.

खास बातें

  1. जबलपुर में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और सागर में प्रभात झा ने की अगुवाई
  2. इंदौर में सांसद नंदकुमार सिंह चौहान समेत कई दिग्गज नेता सड़क पर उतरे
  3. कांग्रेस ने बताया कि बीजेपी के 15 साल के राज में राज्य के क्या हालात थे
भोपाल:

मध्यप्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के खिलाफ बीजेपी ने बुधवार को प्रदेश भर में घंटानाद आंदोलन किया. बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं के नेतृत्व में नेता और कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालयों पर कलेक्ट्रेट के बाहर घंटे और ढोल-मंजीरों के साथ पहुंचकर प्रदर्शन किया. भोपाल में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, विदिशा में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,जबलपुर में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, सागर में प्रभात झा तो इंदौर में सांसद नंदकुमार सिंह चौहान समेत तमाम दिग्गज नेता सड़क पर उतरे. सड़क पर ढोल, मंजीरे और तुरही बजाई. वहीं कांग्रेस ने इसका जवाब ढोल बजाओ आंदोलन से दिया, हर जिला मुख्यालाय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि बीजेपी के 15 साल के राज में क्या हालात थे.
       
भोपाल में बीजेपी ने गाड़ी के आगे कुंभकर्ण को लिटाया. कहा कि यह प्रदेश सरकार है, जो जगाने से भी नहीं जाग रही. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि 'राज्य में कांग्रेस की सरकार कुंभकर्णी नींद में सो रही है, इसलिए हमने तय किया इनको नींद से जगाने के लिए. प्रदेश की जनता के हितों के लिए हम सड़कों पर उतरेंगे. उनमें अकल होती तो जनता के हितों की रक्षा करते ढोल नहीं बजाते.'
    
जबलपुर में बीजेपी ने नौदरा ब्रिज से कलेक्ट्रेट तक रैली निकाली. बीजेपी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बैरीकेटिंग कर रोकने की कोशिश की, वॉटर कैनन का भी इस्तेमाल किया. नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने जबलपुर में कहा कि 'कमलनाथ सरकार में अंतर्कलह चरम पर है. अलग-अलग गुट, अलग-अलग सरकार चलाने की कोशिश में खींचतान कर रहे हैं, जिससे जनता के हित बाधित हो रहे हैं. इस माहौल में सरकार कब तक चले इसका कोई भरोसा नहीं है. प्रदेश में ऊपर से नीचे तक लूट खसोट मची हुई है.' उन्होंने कहा कि 'कांग्रेस के नेताओं में मलाई की लड़ाई चल रही है. पूर्व मुख्यमंत्री अलग सरकार चला रहे हैं. पूरे प्रदेश में अराजकता की स्थिति है.'

बीजेपी ने पार्टी के 'नेता पुत्रों' को सड़क के रास्ते सत्ता में पहुंचाने का प्लान बनाया


नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि 'विकास कार्य न करने के लिए सरकार खाली खजाने का बहाना बना रही है तो वहीं 9 महीने में 50 हजार तबादले कर दिए, जिन पर टीए-डीए पर करोड़ों रुपये सरकार खर्च कर रही है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ अगर 9 युवाओं के नाम गिना दें जिन्हें उनकी सरकार ने 9 माह में नौकरी दी या बेरोजगारी भत्ता दिया हो तो मैं राजनीति से संन्यास ले लूंगा.' उन्होंने कहा कि 'यह घंटानाद आंदोलन मध्यप्रदेश की जनता को न्याय दिलाने, उनके हित की लड़ाई लड़ने के लिए है. सोई हुई सरकार को नींद से जगाने के लिए ऐसे आंदोलन तेज होंगे.'

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने राज्य के बीजेपी सांसदों को चिट्ठी लिखकर लगाई गुहार

f7efdies

विदिशा में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदर्शन हुआ. सागर में प्रभात झा के नेतृत्व में बीजेपी कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी नोक झोंक हुई. इंदौर में बीजेपी ने जबर्दस्त प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के बीच इंदौर कलेक्ट्रेट पर बेरिकेड तोड़कर कार्यकर्ता अंदर घुस गए और गेट पर हवा में क्रिकेट का बल्ला भी लहराया.

damg4pvs

    

मध्यप्रदेश में कांग्रेस के सत्ता में आने के नौ महीने बाद बीजेपी का यह पहला बड़ा प्रदेशव्यापी आंदोलन है. इस आंदोलन के जवाब में सत्ताधरी कांग्रेस ने 15 साल तक राज करके राज्य को गर्त में धकेलने के बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी को जवाब मांगने का नैतिक हक नहीं है. कांग्रेस प्रवक्ता शोभा ओझा ने कहा कि 'अलीराजपुर देश का सबसे गरीब जिला, शिवपुर को देश का इथियोपिया कहा जाता था. जिस तरह से बीजेपी शोर मचा रही है, नैतिक तौर पर इन्हें कोई अधिकार नहीं है, सरकार से जवाब मांगने का. संवैधानिक तौर पर इनका अधिकार है इसलिए हम जवाब दे रहे हैं.'

l6l9vgio

   

बीजेपी ने इस आंदोलन में कांग्रेस सरकार पर नौ महीने में जनता से किए गए वादों की अनदेखी करने के आरोप लगाए. कहा कि किसान से लेकर युवा और महिलाओं से लेकर बच्चे तक इस सरकार से परेशान हैं. किसान कर्जमाफी, युवा स्वाभिमान योजना, युवाओं को बेरोजगारी भत्ता, बिजली के बढ़े हुए बिल जैसे मुद्दों के साथ-साथ कांग्रेस नेताओं के बीच मचे घमासान को लेकर बीजेपी ने ढोल, मंजीरे बजाते हुए प्रदर्शन किया.

टिप्पणियां

VIDEO : कांग्रेस सरकार को घेरने के लिए बीजेपी के 'नेता पुत्र' आएंगे मैदान में



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement