मध्य प्रदेश में बारिश के कहर से नहीं बच सके मंत्रियों के भी बंगले, छतों से टपक रहा पानी

लोक निर्माण मंत्री सज्जन वर्मा ने मंगलवार को देवास जिले में टोंक खुर्द विकास खंड के प्रभावित इलाके की फसलों के नुकसान का जायजा लिया.

मध्य प्रदेश में बारिश के कहर से नहीं बच सके मंत्रियों के भी बंगले, छतों से टपक रहा पानी

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • लगातार तीन दिनों से हो रही बारिश
  • उफान पर हैं नदी-नाले, बांधों का जलस्तर बढ़ा
  • किसानों को फसलों के नुकसान के लिए मिलेगी आर्थिक मदद
भोपाल:

मध्य प्रदेश में जारी भारी बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं और जनजीवन प्रभावित हो रहा है. लगातार हो रही बारिश ने तो अब प्रदेश के मंत्रियों से लेकर विधायकों को भी परेशान कर दिया है. दरअसल नेताओं के बंगलों से पानी टपकने की समस्या सामने आ रही है, जिससे उन्हें परेशानियोंका सामना करना पड़ रहा है. राज्य में बीते तीन दिनों से लगातार बारिश हो रही है. नर्मदा, बेतवा, सिंध, ताप्ती सहित अन्य नदियां उफान पर हैं. इसके अलावा बांधों का जलस्तर बढ़ने पर पानी की निकासी की जा रही है, जिससे नदियों के तट पर बसे गांवों में अलर्ट जारी किया गया है. राजधानी की कई बस्तियों में भी पानी भर गया है. बारिश से बड़े पैमाने पर फसलों को भी नुकसान पहुंचा है. राज्य के कृषि मंत्री सचिन यादव ने प्रभावित किसानों को सरकार की ओर से आर्थिक मदद देने की बात कही है.

मध्यप्रदेश के 32 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, मौसम विभाग ने किया सतर्क

राज्य के आदिम जाति कल्याण मंत्री ओमकार सिंह मरकाम का कहना है कि बारिश के कारण उनके बंगले में पानी टपक रहा है. इसके बारे में वे अधिकारियों को कई बार बता चुके हैं, मगर न तो मरम्मत हुई और न ही पुराना फर्नीचर बदला गया है. ओमकार ने कहा कि अब वे सीधे मुख्यमंत्री कमलनाथ से इस संबंध में बात करेंगे. इसी तरह विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा का कहना है कि उनके बंगले के कई हिस्सों में पानी भर गया है. घर में सीलन आई हुई है और छत से पानी टपक रहा है. वे दूसरा बंगला चाहते हैं. उन्होंने राज्य सरकार के कई मंत्रियों पर फोन तक न उठाने का आरोप लगाया .

बारिश के बाद उसके असर की भी जानकारी देगा मौसम विभाग, ISRO समेत कई एजेंसियों से जुटाएगा आंकड़े

लोक निर्माण मंत्री सज्जन वर्मा ने मंगलवार को देवास जिले में टोंक खुर्द विकास खंड के प्रभावित इलाके की फसलों के नुकसान का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने फसलों के नुकसान का आंकलन कर बीमा कंपनी से किसानों को लाभ दिलाने के निर्देश जारी किए. वर्मा ने ग्राम टोंक कला, टोंक खुर्द नगरीय क्षेत्र, मोहम्मद खेड़ा और चौबीसधारा क्षेत्रों का दौरा कर स्थानीय निकायों को पानी निकासी की तत्काल उचित व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com