NDTV Khabar

अगले 48 घंटों में मध्य प्रदेश के 20 जिलों में भारी बारिश की संभावना

बारिश से मध्य प्रदेश का बुरा हाल है और यहां कई जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अगले 48 घंटों में मध्य प्रदेश के 20 जिलों में भारी बारिश की संभावना

सोमवार की सुबह तक चेतावनी के साथ 20 जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है.

खास बातें

  1. मौसम विभाग ने 20 जिलों में भारी बारिश का जताया अनुमान
  2. बैतूल शहर में शनिवार सुबह 8.30 से शाम 5.30 बजे तक हुई बारिश
  3. एमपी के कई हिस्सों में अब भी बाढ़ जैसे हालात
भोपाल :

मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में सोमवार सुबह तक भारी बारिश होने की संभावना है जबकि पिछले 24 घंटों में लगभग पूरे राज्य में अच्छी बारिश हुई है. मौसम विभाग के भोपाल केन्द्र के अधिकारी उदय सरवटे ने बताया कि प्रदेश के बैतूल शहर में शनिवार सुबह 8.30 से शाम 5.30 बजे के बीच 86 मिमी बारिश हुई. इसके अलावा, छतरपुर जिले के राजनगर में शुक्रवार सुबह से शनिवार सुबह के बीच 158.6 मिमी बारिश हुई. उन्होंने कहा कि सोमवार की सुबह तक चेतावनी के साथ भोपाल, इंदौर, रायसेन, राजगढ़, सीहोर और विदिशा सहित 20 जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है. अधिकारी ने कहा कि रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, भिंड और मंडला सहित 28 जिलों में कई स्थानों पर बारिश या गरज के साथ बारिश हो सकती है.

मध्य प्रदेश में बारिश का कहर: खाली हो रहे 34 गांव, बाढ़ का पानी घरों और दुकानों में घुसने से लोग बेहाल


दूसरी ओर बारिश से मध्य प्रदेश का बुरा हाल है. यहां कई जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है और अब तक 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. धार जिले में नर्मदा भी उफान पर है. सरदार सरोवर के गेट बंद होने से एक बार फिर लोगों में डूब का डर बना हुआ है.  नर्मदा बचाओ आंदोलन के बैनर तले मेधा पाटकर के नेतृत्व में करीब 300 प्रभावितों ने सत्याग्रह आंदोलन छेड़ दिया है.

टिप्पणियां

मध्य प्रदेश में बाढ़: अब तक 32 लोगों की मौत, कई इलाकों का संपर्क टूटा, 150 को राहत शिविर में पहुंचाया गया

मंदसौर के हैदरवास गांव में बाढ़ से प्रभावित डेढ़ सौ लोगों से ज्यादा लोगों को राहत शिविर में पहुंचाया गया है. इलाके में प्रशासन ने 3 राहत शिविर बनाए हैं, जिसमें बाढ़ प्रभावितों को रखा गया है. प्रशासन के मुताबिक, लगभग 3000 लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है और बाढ़ से हुए नुकसान का आंकलन किया जा रहा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement