NDTV Khabar

भोपाल : किसानों की दुर्दशा को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शुरू किया सत्याग्रह

मंदसौर आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों और प्रदेश में किसानों की दुर्दशा को लेकर कांग्रेसी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भोपाल में 72 घंटे का अनशन शुरू कर दिया है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भोपाल : किसानों की दुर्दशा को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शुरू किया सत्याग्रह

मंदसौर आंदोलन में किसानों की मौत के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराया है

खास बातें

  1. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 72 घंटे के लिए सत्याग्रह शुरू किया है
  2. किसानों की मौत के लिए शिवराज सिंह चौहान को जिम्मेदार ठहराया
  3. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के उपवास को बताया किसानों का उपहास
भोपाल:

मंदसौर आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों और प्रदेश में किसानों की दुर्दशा को लेकर कांग्रेसी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भोपाल में 72 घंटे का अनशन शुरू कर दिया है. कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंदसौर गोलीकांड के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उपवास नहीं किया, बल्कि किसानों का उपहास उड़ाया है. 

टीटी नगर स्थित दशहरा मैदान में बुधवार शाम चार बजे से शुरू हुए कांग्रेस के 72 घंटे के सत्याग्रह के मौके पर सिंधिया ने कहा कि मंदसौर की घटना देश के लिए कलंक है. इसके लिए कोई और नहीं, बल्कि राज्य सरकार और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जिम्मेदार हैं.

मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में शांति बहाली के लिए किए गए अनिश्चितकालीन उपवास के 28 घंटे में ही खत्म होने पर सिंधिया ने चुटकी ली और कहा कि यह उपवास नहीं, बल्कि किसानों का उपहास था क्योंकि, मुख्यमंत्री ने चांदी के गिलास में पानी पीकर उपवास तोड़ा. कांग्रेसी सांसद ने राज्य और केंद्र सरकार को किसान विरोधी करार देते हुए कहा कि देश में इन सरकारों के चलते किसान आत्महत्याएं बढ़ गई हैं.


टिप्पणियां

सत्याग्रह के मंच पर कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, सांसद विवेक तन्खा, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी सहित बड़ी संख्या में विधायक और वरिष्ठ नेता मौजूद थे. सत्याग्रह शुरू होने से पहले किसानों को श्रद्घांजलि दी गई. मंच पर उन छह किसानों की तस्वीरें भी लगाई गईं, जिनकी हाल ही में मंदसौर में पुलिस कार्रवाई से मौत हुई थी.

(इनपुट आईएएनएस से भी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement