सरकारी नौकरियों को लेकर शिवराज के ऐलान पर बोले कमलनाथ- सिर्फ चुनावी घोषणा निकली तो चुप नहीं बैठेगी कांग्रेस

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट किया, ‘‘मैंने अपनी 15 माह की सरकार में प्रदेश के युवाओं को प्राथमिकता से रोजगार मिले, इसके लिये कई प्रावधान किये."

सरकारी नौकरियों को लेकर शिवराज के ऐलान पर बोले कमलनाथ- सिर्फ चुनावी घोषणा निकली तो चुप नहीं बैठेगी कांग्रेस

आप 15 साल बाद युवाओं के रोजगार को लेकर नींद से जागे तो सही : कमलनाथ (फाइल फोटो)

भोपाल :

मध्यप्रदेश में शासकीय नौकरियां सिर्फ प्रदेश के युवाओं को मिलें, ऐसा प्रावधान किए जाने की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की घोषणा पर तंज कसते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मंगलवार को कहा कि ‘चलिये 15 साल बाद आज आप युवाओं के रोजगार को लेकर नींद से जागे तो सही.'' वहीं, मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने सरकार के इस फैसले को ऐतिहासिक बताया. चौहान ने मंगलवार को कहा, ‘‘आज मध्य प्रदेश सरकार ने एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है. प्रदेश की शासकीय नौकरियां अब केवल प्रदेश के बच्चों को दी जाएंगी. इसके लिए हम आवश्यक कानूनी प्रावधान कर रहे हैं। मध्य प्रदेश के संसाधन मध्य प्रदेश के बच्चों के लिए हैं.'' 

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट किया, ‘‘मैंने अपनी 15 माह की सरकार में प्रदेश के युवाओं को प्राथमिकता से रोजगार मिले, इसके लिये कई प्रावधान किये. मैंने हमारी (तत्कालीन) सरकार बनते ही उद्योग नीति में परिवर्तन कर 70 प्रतिशत प्रदेश के स्थानीय युवाओं को रोज़गार देना अनिवार्य किया.'' 

उन्होंने कहा कि हमने युवा स्वाभिमान योजना लागू कर युवाओं को रोजगार मिले, इसके लिये कई महत्वपूर्ण निर्णय किये. आपकी 15 साल की पूर्व सरकार (वर्ष 2003 से वर्ष 2018 तक) में प्रदेश में बेरोजगारी की क्या स्थिति रही, यह किसी से छिपी नहीं. युवा हाथों में डिग्री लेकर नौकरी के लिये दर-दर भटकते रहे. कमलनाथ ने कहा क्लर्क व चपरासी की नौकरी तक के लिये हजारों डिग्री धारी लाइनों में लगते रहे. मजदूरों व गरीबों के आंकड़े इसकी वास्तविकता खुद बयां कर रहे हैं. अपनी पिछली 15 वर्ष की सरकार में कितने युवाओं को आपकी सरकार ने रोजगार दिया, यह भी पहले आपको सामने लाना चाहिये.
 
उन्होंने आगे लिखा, ‘‘चलिये आप 15 वर्ष बाद आज युवाओं के रोजगार को लेकर नींद से जागे. आज आपने प्रदेश के युवाओं को प्राथमिकता से नौकरी देने के हमारे निर्णय के अनुरूप ही घोषणा की, लेकिन यह पूर्व की तरह ही सिर्फ घोषणा बन कर ही ना रह जाये. प्रदेश के युवाओं के हक के साथ पिछले 15 वर्ष की तरह वर्तमान में भी छलावा ना हो, वे ठगे ना जाये, यह आगामी उपचुनावों को देखते हुए मात्र चुनावी घोषणा बन कर ना रह जाये, इस बात का ध्यान रखा जावे अन्यथा कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी.'' 

वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘मेरी मांग शिवराज जी आपने स्वीकार की, धन्यवाद.'' सिंह ने चौहान पर निशाना साधते हुए आगे लिखा, ‘‘लेकिन जब तक शासकीय आदेश नहीं निकलेगा तब तक आप पर कैसे भरोसा करें? 15 साल तक किस बात का इंतजार था? हजारों मध्य प्रदेश के होनहार नौजवानों का हक आपने मारा और व्यापम के भ्रष्टाचार के लिए कौन जिम्मेदार है? आप और केवल आप.'' 

Newsbeep

इसी बीच, मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त ने मुख्यमंत्री चौहान द्वारा की गई प्रदेश के युवाओं को ही सरकारी नौकरियां देने की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा, ‘‘इस घोषणा से मध्य प्रदेश के युवाओं में अपार उत्साह है.'' उन्होंने कहा, ‘‘आज भाजपा की सरकार ने मध्यप्रदेश के युवाओं को ही सरकारी नौकरियां देने का जो फैसला किया है, वह ऐतिहासिक है.'' शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश के संसाधनों पर पहला हक मध्यप्रदेश के लोगों का ही है और प्रदेश सरकार के फैसले ने इस पर मोहर लगा दी है. उन्होंने इस संबंध में कानून में किए जाने वाले संशोधन के लिए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री एवं कैबिनेट को शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने कहा कि इस फैसले से प्रदेश के युवाओं को शासकीय क्षेत्र में रोजगार के अधिक अवसर उपलब्ध होंगे.

वीडियो: उप-चुनाव के मद्देनजर शिवराज सरकार का फैसला? MP वालों को ही सरकारी नौकरी!

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)