मध्य प्रदेश : डॉक्टर ने जिंदा मरीज की बना थी 'डेथ रिपोर्ट', बाद में कहा- हिंदी कमजोर है

मध्य प्रदेश के जबलपुर स्थित सरकारी नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में बृहस्पतिवार को आईसीयू में इलाज करा रहे एक जीवित मरीज की गलती से ‘डेथ रिपोर्ट’ बना देने के मामले में दो डॉक्टरों को निलंबित किया गया है.

मध्य प्रदेश : डॉक्टर ने जिंदा मरीज की बना थी 'डेथ रिपोर्ट', बाद में कहा- हिंदी कमजोर है

प्रतीकात्मक तस्वीर.

जबलपुर:

मध्य प्रदेश के जबलपुर स्थित सरकारी नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में बृहस्पतिवार को आईसीयू में इलाज करा रहे एक जीवित मरीज की गलती से ‘डेथ रिपोर्ट' बना देने के मामले में दो डॉक्टरों को निलंबित किया गया है. इस अस्पताल के डीन डॉ. नवनीत सक्सेना ने बताया कि आईसीयू में भर्ती एक जिंदा मरीज की आज ‘डेथ रिपोर्ट' तैयार करने के लिए एक जूनियर डॉक्टर सहित दो डॉक्टरों को निलंबित कर दिया गया है.  

मध्य प्रदेश : डॉक्टरों ने जिस शख़्स को मरा घोषित किया था, पोस्टमार्टम के दौरान वह जिंदा निकला

उन्होंने कहा कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि दूसरे मरीज के साथ इस मरीज की फाइल बदल गई थी, जिससे यह गलती हुई. जिस डॉक्टर ने यह डेथ रिपोर्ट बनाई उसकी हिन्दी कमजोर है और इस वजह से ऐसा हुआ. हालांकि, बाद में जिस मरीज की गलती से डेथ रिपोर्ट बना दी गई थी, उसके कहने से इस रिपोर्ट को सुधार कर ठीक कर दिया गया है. 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com