NDTV Khabar

मध्य प्रदेश : मुख्यमंत्री कमलनाथ के गृह जिले में कर्ज से दबे किसान ने की आत्महत्या

छिंदवाड़ा के कुंडीपुरा थानाक्षेत्र के मेघासिवनी गांव में आज सुबह 50 वर्षीय साल के अकडू उइके का फांसी पर लटका शव देखकर लोगों के होश उड़ गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्य प्रदेश : मुख्यमंत्री कमलनाथ के गृह जिले में कर्ज से दबे किसान ने की आत्महत्या

कर्ज में डूबे किसान ने आत्महत्या कर ली.

भोपाल:

छिंदवाड़ा के कुंडीपुरा थानाक्षेत्र के मेघासिवनी गांव में आज सुबह 50 वर्षीय साल के अकडू उइके का फांसी पर लटका शव देखकर लोगों के होश उड़ गए. जिसके बाद इस घटना की सूचना पुलिस को दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लेकर शव को फांसी के फंदे से नीचे उतारा और पंचनामा कर पूछताछ के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया. परिवार और पड़ोसियों से शुरुआती पूछताछ में सामने आया कि आर्थिक तंगी,कर्ज का बोझ और बीते 4 सालों से फसल का अच्छा उत्पादन नहीं हो पाने से  किसान परेशान था जिसके कारण उसने यह कदम उठाया. 

बैंक के कर्ज में डूबे महाराष्ट्र के किसान ने आत्महत्या की

टिप्पणियां

मृतक की पत्नी सकलवती ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि उनके पति ने लड़की की शादी के लिये स्थानीय साहूकार से 9 हज़ार रुपये का कर्ज लिया गया था और पिछले लगभग 3-4 सालों से खेत मे फसल भी नही हो पा रही थी, इसी कारण उसके पति तनाव में थे जिससे उन्होंने यह कदम उठा लिया. प्रधान आरक्षक मदन पाल ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है,प्रारंभिक जांच के अनुसार मृतक ने लड़की की शादी के लिए कर्ज लिया था और कर्ज के तनाव के चलते शायद उसने यह कदम उठाया हो फिलहाल शव का पोस्टमार्टम करवाकर मामले की सभी बिंदुओं की जांच की जा रही है. (सचिन पांडे के इनपुट के साथ)


मध्‍यप्रदेश : कर्जमाफी की घोषणा के बाद अब तक दो किसानों ने की खुदकुशी, यूरिया का भी है संकट



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement