NDTV Khabar

बीजेपी विधायक ने थाने में कॉन्स्टेबल को पीटा फिर दी जान से मारने की धमकी, घटना CCTV में कैद

मध्यप्रदेश देवास जिले के उदयनगर थाने में हुई घटना, विधायक के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने और मारपीट करने का मामला दर्ज

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी विधायक ने थाने में कॉन्स्टेबल को पीटा फिर दी जान से मारने की धमकी, घटना CCTV में कैद

विधायक चंपालाल देवड़ा.

खास बातें

  1. बागली विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं चंपालाल देवड़ा
  2. एमएलए के भतीजे का हुआ था कॉन्सटेबल से विवाद
  3. पूरी घटना थाने के सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई
भोपाल:

मध्‍यप्रदेश के देवास जिले के बागली विधानसभा क्षेत्र के बीजेपी के विधायक चंपालाल देवड़ा ने गुरुवार को देर रात में जिले के उदयनगर थाने में ड्यूटी पर तैनात एक पुलिस कॉन्सटेबल की कथित रूप से पिटाई कर दी.

उदयनगर थाना देवास से करीब 110 किलोमीटर दूर है. देवड़ा अपने कुछ समर्थकों के साथ वहां गए थे. शुक्रवार को सुबह देवड़ा और उसके साथियों पर शासकीय कार्य में बाधा डालने और मारपीट करने का प्रकरण दर्ज किया गया है.

बताया जाता है कि एमएलए देवड़ा के भतीजे का उदयनगर पुलिस थाने में पदस्थ कांस्टेबल संतोष इवनाती से विवाद  हो गया था. इसकी सूचना मिलने पर देवड़ा खुद थाने में गए और संतोष इवनाती को दो थप्पड़ जड़ दिए. अन्य लोगों ने भी उसकी पिटाई की. मारपीट की यह घटना थाने में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई.

यह भी पढ़ें : राजस्थान : बीजेपी विधायक ने टोल प्लाजा कर्मचारी को पीटा, वीडियो वायरल


संतोष के मुताबिक देवड़ा का भतीजा पुलिस थाने में आया और प्रतिबंधित क्षेत्र में एक अन्य आरोपी से उसने पानी की बोतल ली. इस पर संतोष ने उसका उद्देश्य पूछा. इस पर आरोपी ने एमएलए को खबर कर दी. सारा घटनाक्रम पुलिस थाने के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है.     

 
madhya pradesh police udainagar police station dewas

उदयनगर पुलिस थाना प्रभारी शिव रघुवंशी ने बताया, कि फरियादी संतोष इवनाती की रिपोर्ट पर विधायक चंपालाल देवड़ा और उनके साथियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 353, 332, 294, 506 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा, मामले की विवेचना की जा रही है. जो भी दोषी पाया जाता है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.’’
टिप्पणियां

VIDEO : विधायक के बेटे ने की गार्ड की पिटाई

बीजेपी के देवास जिले के प्रवक्ता शंभू अग्रवाल ने बताया, ‘‘इस मामले में निष्पक्ष जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है. विधायक का इस तरह का कोई पुराना इतिहास नहीं रहा है. वह बहुत सहज व्यक्ति हैं.’’
(इनपुट एजेंसी से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement