NDTV Khabar

शिवराज के 'खुशहाल' मंत्रालय की जगह CM कमलनाथ बनाएंगे 'आध्यात्मिक विभाग', घोषणा पत्र में किया था वादा

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में नवगठित कांग्रेस सरकार (Congress) ने कहा कि वे मौजूदा कुछ विभागों को मिलाकर अध्यात्मिक विभाग बनाया जाएगा. मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) के ट्विटर अकाउंट पर यह जानकारी दी गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवराज के 'खुशहाल' मंत्रालय की जगह CM कमलनाथ बनाएंगे 'आध्यात्मिक विभाग', घोषणा पत्र में किया था वादा

मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) के कार्यालय द्वारा शनिवार को ट्विटर पर यह जानकारी दी गई.

खास बातें

  1. 112 पेज के घोषणा पत्र में किया था वादा
  2. कई मंत्रालयों का किया जाएगा विलय
  3. देश में पहली बार बना था खुशहाल मंत्रालय
भोपाल:

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में नवगठित कांग्रेस सरकार (Congress)ने कहा कि वे मौजूदा कुछ विभागों को मिलाकर अध्यात्मिक विभाग बनाया जाएगा. कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दौरान ऐसा विभाग बनाने का वादा किया था. मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) के कार्यालय सीएमओ एमपी के ट्विटर पर शनिवार को जानकारी दी गई, ‘मुख्यमंत्री कमल नाथ के निर्देश पर मध्य प्रदेश शासन सामान्य प्रशासन विभाग के द्वारा अध्यात्म विभाग के गठन का प्रस्ताव तैयार किया गया है.' एक अन्य ट्वीट में बताया, ‘धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग तथा आनंद विभाग को शामिल करते हुए नवगठित होने जा रहे इस प्रस्तावित अध्यात्म विभाग में धार्मिक न्यास तथा धर्मस्व संचालनालय, तीर्थ एवं मेला प्राधिकरण, मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना संचालनालय और राज्य आनंद संस्थान समाहित होंगे.'

कांग्रेस (Congress) ने अपने 112 पेज के घोषणा पत्र में प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर अध्यात्म विभाग बनाने का वादा किया था. इसके साथ ही कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में प्रदेश में चित्रकूट क्षेत्र में राम गमन पथ बनाने तथा गोमूत्र और गोबर के कंडों के व्यावसायिक उत्पादन का भी वादा किया है. भाजपा शासन काल के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के निर्देश पर देश में पहली दफा किसी प्रदेश में आनंद विभाग का गठन किया गया था. अब मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देश पर इस नए गठित किए जा रहे अध्यात्म विभाग में ही आनंद विभाग को भी शामिल करने का प्रस्ताव है.


 प्रदेशः जब मंत्री जी को 'भगवान' मानकर शिक्षाधिकारी ने उतारी आरती

मंत्रियों के विभागों का बंटवारा 
कमलनाथ ने शनिवार को नवगठित मंत्रिमंडल के सदस्यों के बीच विभागों का बंटवारा कर दिया है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग, जनसम्पर्क, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, लोक सेवा प्रबंधन, अप्रवासी भारतीय, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार तथा ऐसे अन्य विभाग जो किसी को नहीं दिये गए हैं, अपने पास रखा है.

मध्य प्रदेशः मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंत्रियों को बांटे विभाग, जानिए किसको क्या मिला ?

आधिकारिक जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री कमलनाथ ने डॉ. विजय लक्ष्मी साधो को संस्कृति, चिकित्सा शिक्षा तथा आयुष विभाग का दायित्व सौंपा है. सज्जन सिंह वर्मा को लोक निर्माण तथा पर्यावरण विभाग आवंटित किए गए है. हुकुम सिंह कराड़ा जल संसाधन विभाग का दायित्व सम्भालेंगे. डॉ. गोविन्द सिंह को साहकारिता विभाग तथा संसदीय कार्य विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है. जबकि बाला बच्चन को गृह तथा जेल विभाग सौंपा गया है वे मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी संबद्ध रहेंगे. 

क्या मध्य प्रदेश में बैन होगी फिल्म The Accidental prime minister, जानिए कमलनाथ सरकार ने क्या कहा

मंत्रिमंडल में आरिफ अकील को भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास विभाग, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम विभाग आवंटित किये गये है. बृजेन्द्र सिंह राठौर को वाणिज्य कर विभाग सौंपा गया है. मंत्रिमंडल में शामिल एकमात्र निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल को खनिज साधन विभाग आवंटित किया गया है. लाखन सिंह यादव को पशुपालन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास विभाग का दायित्व सम्भालेंगे. तुलसी सिलावट लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बनाये गये है. गोविन्द सिंह राजपूत राजस्व तथा परिवहन विभाग का दायित्व सम्भालेंगे. 

MP कांग्रेस में ऑल इज़ नॉट वेल! विभागों को लेकर कमलनाथ सरकार में जारी है 'सिर फुटौव्वल'

इमरती देवी को महिला एवं बाल विकास विभाग आवंटित किया गया है. ओमकार सिंह मरकाम जनजातीय कार्य विभाग, विमुक्त घुमक्कड़ एवं अर्द्धघुमक्कड़ जनजाति कल्याण विभाग मंत्री होंगे. प्रभुराम चौधरी स्कूल शिक्षा मंत्री बनाये गये है. प्रियव्रत सिंह को ऊर्जा विभाग आवंटित किया गया है. सुखदेव पांसे लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के मंत्री होंगे. उमंग सिंघार वन मंत्री बनाये गये है. हर्ष यादव को कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग तथा नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग आवंटित किया गया है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री होंगे. जीतू पटवारी को खेल एवं युवा कल्याण तथा उच्च शिक्षा विभाग का दायित्व सौंपा गया है. 

मंत्री न बनाए जाने पर कांग्रेस में बगावत, CM को भेजा इस्तीफा, कहा- लोकसभा चुनाव में पड़ेगा भारी

कमलेश्वर पटेल पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री बनाये गये है तथा लखन घनघोरिया सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग तथा अनुसूचित जाति कल्याण का दायित्व सम्भालेंगे. महेन्द्र सिंह सिसोदिया श्रम मंत्री होंगे. पी.सी. शर्मा विधि एवं विधायी कार्य विभाग के मंत्री बनाये गये है वे मुख्यमंत्री से भी संबद्ध रहेंगे. प्रद्यूम्न सिंह तोमर खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के मंत्री होंगे. पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव के छोटे भाई सचिन सुभाष यादव को किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग और उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग का दायित्व सौंपा गया है. सुरेन्द्र सिंह हनी बघेल को नर्मदा घाटी विकास विभाग तथा पर्यटन विभाग आवंटित किये गये है और तरूण भनोट को वित्त विभाग तथा योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग सौंपा गया है. 

(इनपुट- भाषा)

टिप्पणियां

15 साल से नंगे पैर घूम रहा था यह शख्स, अब CM कमलनाथ ने खुद पहनाए जूते, जानिये पूरा मामला...

VIDEO- मध्य प्रदेश कांग्रेस में जारी है नेताओं की नाराजगी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement