मध्य प्रदेश : झटका खाकर 10 फुट नीचे गिरी लिफ्ट, हादसे में बाल-बाल बचे पूर्व CM कमलनाथ

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) रविवार को इंदौर के एक अस्पताल में हुए हादसे में बाल-बाल बच गए.

मध्य प्रदेश : झटका खाकर 10 फुट नीचे गिरी लिफ्ट, हादसे में बाल-बाल बचे पूर्व CM कमलनाथ

हादसे में पूर्व CM कमलनाथ बाल-बाल बच गए. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • इंदौर के DNS अस्पताल की घटना
  • अचानक गिरी अस्पताल की लिफ्ट
  • लिफ्ट में मौजूद थे पूर्व CM कमलनाथ
इंदौर:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) रविवार को एक बड़े हादसे में बाल-बाल बच गए. इंदौर के DNS अस्पताल पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की लिफ्ट झटका खाकर अचानक जमीन पर गिर गई. जिस वक्त लिफ्ट गिरी, उसमें कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ मौजूद थे. इस घटना पर राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने जांच के आदेश दिए हैं. हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ और सभी लोग बाल-बाल बच गए. पूर्व मुख्यमंत्री के साथ इस दौरान विधायक सज्जन वर्मा, जीतू पटवारी और विशाल पटेल भी लिफ्ट में मौजूद थे.

मिली जानकारी के अनुसार, नवनिर्मित अस्पताल में एक लिफ्ट में क्षमता से ज्यादा लोगों के सवार होने के कारण यह लिफ्ट कथित तौर पर 10 फुट नीचे आ गिरी. अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक, हादसे के वक्त लिफ्ट में मध्य प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष कमलनाथ समेत 13-14 लोग सवार थे और ये सभी लोग सुरक्षित हैं. अधिकारियों ने बताया कि राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस नेता से बातचीत के बाद जिला प्रशासन को लिफ्ट हादसे की जांच के निर्देश दिए हैं.

पूर्व CM कमलनाथ के चचेरे भाई और पत्नी के मर्डर मामले में पुलिस के हाथ लगे अहम सुराग

प्रदेश कांग्रेस प्रमुख के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बयान जारी कर कहा, "कमलनाथ इंदौर के डीएनएस हॉस्पिटल में भर्ती वरिष्ठ कांग्रेस नेता रामेश्वर पटेल के हाल-चाल जानने गए थे. वह और अन्य कांग्रेस नेता आधार तल से ऊपरी मंजिल की ओर जाने के लिए लिफ्ट में सवार हुए, तभी लिफ्ट अचानक धड़ाम से 10 फुट नीचे गिर पड़ी." सलूजा ने कहा, ‘‘हादसे के बाद लिफ्ट में धूल और धुएं का गुबार भर गया और इसके दरवाजे लॉक हो गए. इसके 10-15 मिनट बाद बामुश्किल औजार ढूंढ कर लिफ्ट का दरवाजा खोला गया.''

कांग्रेस नेता कमलनाथ ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से की मुलाकात

उन्होंने कहा, ‘‘कमलनाथ और कांग्रेस के वे अन्य सभी नेता सुरक्षित हैं जो लिफ्ट में सवार थे." कांग्रेस नेता ने लिफ्ट हादसे को कथित तौर पर लापरवाही और सुरक्षा में चूक का परिणाम बताते हुए प्रशासन से मांग की कि अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कड़े कदम उठाए जाएं. उन्होंने बताया कि हादसे के वक्त लिफ्ट में कमलनाथ के साथ राज्य के दो पूर्व मंत्री-सज्जन सिंह वर्मा और जीतू पटवारी के अलावा कांग्रेस के स्थानीय विधायक विशाल पटेल और शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल भी सवार थे. इस बीच, राज्य के जनसंपर्क विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया, "मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर में रविवार को कमलनाथ के साथ हुई लिफ्ट दुर्घटना पर चिंता जताई है. चौहान ने हादसे के बाद कमलनाथ से फोन पर चर्चा की और उनकी खैरियत पूछी."

मध्य प्रदेश: कांग्रेस का राजभवन मार्च, पार्टी नेताओं पर पुलिस ने भांजी लाठियां, फिर की ठंडे पानी की बौछार

सरकारी बयान में यह भी कहा गया कि मुख्यमंत्री ने इंदौर के जिलाधिकारी मनीष सिंह को लिफ्ट हादसे की जांच के निर्देश दिए हैं. इंदौर के जिलाधिकारी कार्यालय ने ट्वीट कर बताया कि निजी अस्पताल की लिफ्ट की खराबी तथा इसमें हुई दुर्घटना की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं और एक अतिरिक्त जिलाधिकारी (एडीएम) को इसका जिम्मा सौंपा गया है. उधर, डीएनएस हॉस्पिटल के एक अधिकारी ने लिफ्ट गिरने की बात से इनकार करते हुए कहा कि क्षमता से ज्यादा लोगों के सवार होने से यह ऊपर जाने के बजाय अचानक नीचे की ओर जाकर बेसमेंट में पहुंच गई. अधिकारी के मुताबिक हादसे के वक्त लिफ्ट में कमलनाथ समेत 13-14 लोग सवार थे.

पूर्व सीएम कमलनाथ ने कृषि कानूनों के खिलाफ निकाली ट्रैक्टर रैली, BJP पर साधा निशाना


उन्होंने कहा, "लिफ्ट के नीचे की तरफ जाने के बाद लिफ्टमैन इसे बेसमेंट में ले गया और इसमें सवार कमलनाथ तथा अन्य लोगों को बाहर निकाला. ये लोग बेसमेंट से सीढ़ियां चढ़कर अस्पताल की ऊपरी मंजिल पर पहुंचे और वरिष्ठ कांग्रेस नेता रामेश्वर पटेल के हाल-चाल जानने के बाद दूसरी लिफ्ट से नीचे उतरकर अगले पड़ाव की ओर रवाना हुए."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कमलनाथ ने कहा- मुझे मध्य प्रदेश के भविष्य की चिंता है