NDTV Khabar

शिवराज सिंह चौहान ने अब कहा, अमेरिका और इंग्लैंड से कहीं आगे है मध्‍य प्रदेश

मध्यप्रदेश के 62वें स्थापना दिवस के अवसर पर बुधवार रात आयोजित राज्यस्तरीय समारोह को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा कि ‘‘गुलाम मानसिकता’’ के लोग ही दूसरे देश को अपने देश से अच्छा समझ सकते हैं.

9133 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवराज सिंह चौहान ने अब कहा, अमेरिका और इंग्लैंड से कहीं आगे है मध्‍य प्रदेश

मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटो)

भोपाल: मध्यप्रदेश की सड़कें अमेरिका की सड़कों से बेहतर होने की बात कहकर राजनीतिक विरोधियों का निशाने पर आये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अब कहा है कि मध्यप्रदेश, अमेरिका और इंग्लैंड सहित अनेक मुल्कों से बहुत बेहतर है. मध्यप्रदेश के 62वें स्थापना दिवस के अवसर पर बुधवार रात आयोजित राज्यस्तरीय समारोह को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा कि ‘‘गुलाम मानसिकता’’ के लोग ही दूसरे देश को अपने देश से अच्छा समझ सकते हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा मध्यप्रदेश अमेरिका, इंग्लैंड आदि से कहीं अधिक अच्छा है. इसे देखने के लिये सकारात्मक सोच होना जरूरी है और अपने प्रदेश पर गर्व की भावना होना आवश्यक है. गुलाम मानसिकता के लोग ही दूसरे देश को अपने देश से अच्छा समझ सकते हैं.’’ चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश तेजी से आगे बढ़ने वाला राज्य है. यहां की विकास दर निरंतर ‘दो अंकों’ में है. राज्य के लोग मध्यप्रदेश को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने हेतु संकल्पित है.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘आतंकवाद, भ्रष्टाचार, गरीबी मुक्त स्वच्छ मध्यप्रदेश बनाने के लिये साढ़े सात करोड़ जनता को संकल्पित होना होगा, अपना सर्वश्रेष्ठ समर्पित करने आगे आना होगा. सबको मिलकर मध्यप्रदेश को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाना है.’’ चौहान ने हाल ही में अमेरिका यात्रा के दौरान वाशिंगटन में एक कार्यक्रम में कहा था, ‘‘जब मैं वाशिंगटन हवाई अड्डे पर उतरकर शहर की ओर आ रहा था तो मैंने महसूस किया कि मध्यप्रदेश की सड़कें अमेरिका से अच्छी हैं.’’

इस बयान के बाद वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था, ‘‘शिवराज जब हेलीकॉप्टर से नीचे उतरेंगे तब तो प्रदेश में सड़कों की असल हालत जान पाएंगे.’’ हालांकि, केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने चौहान के दावे का समर्थन किया था. भारती ने कहा था, ‘‘निश्चित तौर पर मध्यप्रदेश में विश्वस्तरीय सड़कें हैं. इनमें भोपाल की वीआईपी रोड भी शामिल है और हमें इस हीन भावना से बाहर निकलना चाहिये कि अमेरिका, भारत से बेहतर है.’’

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement