NDTV Khabar

मध्य प्रदेश : सरकार की सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में आए सवालों ने किया सबको भौंचक्का!

41 सवाल बच्चों को डेढ़ घंटे में सुलझाने थे. शीर्षक मेरे दीनदयाल सामान्य ज्ञान था लेकिन सबसे ज्यादा 9 सवाल राज्य सरकार और उसकी उपलब्धियों पर केन्द्रित थे.

265 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्य प्रदेश : सरकार की सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में आए सवालों ने किया सबको भौंचक्का!

मंच से सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी दिया भाषण

खास बातें

  1. मध्य प्रदेश में सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता हुई
  2. सबसे ज्यादा सवाल राज्य सरकार और उसकी उपलब्धियों पर केन्द्रित
  3. कांग्रेस का आरोप, पैसे की बर्बादी
भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 23 जनवरी को एक साथ दीनदयाल अंतर्राष्ट्रीय सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता आयोजित हुई. आयोजन भारतीय जनता युवा मोर्चा ने किया. दावा है इसमें 30 लाख से अधिक युवा शामिल हुए. जीतने वालों को कंप्यूटर, एक्टिवा जैसे पुरस्कार देने की बात भी कही गई. मेरिट में आने वाले 6 बच्चे मुख्यमंत्री के साथ कॉफी भी पी सकते हैं. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी इस बीच मंच पर भाषण दिया. बीजेपी ने दावा किया इस परीक्षा में 9,154 परीक्षा केंद्रों पर 26 लाख 12 हजार 118 पंजीकृत प्रतिभागी शामिल हुए, वहीं दुनियाभर में एक साथ आयोजित ऑनलाइन परीक्षा में 3 लाख 98 हजार 554 प्रतिभागियों ने परीक्षा दी. बमुश्किल 40 सेकेंड दीनदयाल के दर्शन पर खर्चा, बाकी में सरकारी उपलब्धियां गिनाते रहे.

शिवराज के बेटे के सामने सिंधिया को धमकी, 'सीएम पर उंगली उठाई तो हाथ तोड़ देंगे और जुबान चलाई तो...'

परीक्षा संचालित करने युवा मोर्चा के 4500 कार्यकर्ता जुटे. बच्चों को परीक्षा की बकायदा तैयारी करवाने पुस्तिका छापी गई. महान हस्तियों की सूची बताई गई जिसमें पंडित जवाहरलाल नेहरु तो नहीं लेकिन गुरु गोलवलकर शामिल थे. हालांकि इस मुद्दे पर भारतीय जनता युवा मोर्चा के नितिन दुबे ने इस बात को बेमानी बताते हुए कहा कि उनका मकसद  पंडित दीनदयाल के विचार को पहुंचाना है जो उनके आदर्श हैं. वहीं, सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग ने कहा, हमारी कोशिश किसी को हटाने की नहीं, नेहरु ने कांग्रेस ने बहुत प्रचार किया वो बहुत प्रचारित हैं. तुलना नहीं करनी चाहिये इसे सकारात्मक रूप से लेना चाहिये.

टिप्पणियां
41 सवाल बच्चों को डेढ़ घंटे में सुलझाने थे. शीर्षक मेरे दीनदयाल सामान्य ज्ञान था लेकिन सबसे ज्यादा 9 सवाल राज्य सरकार और उसकी उपलब्धियों पर केन्द्रित थे. 4 पंडित दीनदयाल पर, हालांकि कुछ बच्चों से जब हमने दीनदयाल जी के बारे में सवाल किया तो किसी ने कहा उसे याद नहीं, किसी ने कहा उन्हें कुछ नहीं बताया गया. कुछ छात्राओं ने सवाल पर चुप्पी साध ली. एकात्म मानववाद के बारे में पूछे जाने पर भी कई छात्रों ने कहा, उन्हें नहीं पता है.

कांग्रेस का आरोप है, आयोजन में सरकारी पैसे की बर्बादी खास विचारधारा को बढ़ाने के लिये हो रही है. यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने कहा सरकारी पैसे को लूटकर गोडसे की विचारधारा को प्रायोजित करने का तरीका है. मध्य प्रदेश बेरोजगारों का प्रदेश है यहां कॉफी विद सीएम के जगह रोजगार की जरूरत है. प्रतियोगिता में आठवीं से बारहवीं और कॉलेज तक के छात्र शामिल हुए जिनकी उम्र 35 साल से कम है. पार्टी का कहना है कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड ने आयोजन को लेकर युवा मोर्चा से संपर्क किया है. 13 हजार प्राइवेट और रिटायर्ड शिक्षक भी परीक्षा के आयोजन में लगे रहे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement