मध्‍यप्रदेश के पन्‍ना में पेड़ पर गिरी बिजली, VIDEO हुआ वायरल

यह वीडियो मध्यप्रदेश में पन्ना जिले के करही गांव का बताया जा रहा है जहां एक युवक अपने घर के बाहर खड़े होकर मोबाइल से बारिश का वीडियो बना रहा था.

मध्‍यप्रदेश के पन्‍ना में पेड़ पर गिरी बिजली, VIDEO हुआ वायरल

सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है वीडियो

पन्ना:

मध्‍यप्रदेश में में पेड़ पर बिजली गिरने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर इन दिनों खूब वायरल हो रहा है. यह वीडियो मध्यप्रदेश में पन्ना जिले के करही गांव का बताया जा रहा है जहां एक युवक अपने घर के बाहर खड़े होकर मोबाइल से बारिश का वीडियो बना रहा था. तभी पेड़ पर अचानक से बिजली गिरी. ये पूरा वाकया उसके मोबाइल में रिकॉर्ड हो गया. वायरल वीडियो में आप देख सकते हैं कि कैसे बिजली गिरने के बाद उसके पीछे बंधे मवेशी भी कूदने लगते हैं. बिजली गिरने से पेड़ झुलस गया है. हालांकि हादसे में किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.

पश्चिमी मध्‍यप्रदेश में बाढ़ से हालात बदतर, हजारों लोगों को बचाया गया

आपको बता दें कि इन दिनों मध्‍यप्रदेश के कई इलाके जबरदस्‍त बारिश और बाढ़ जैसे हालात की चपेट में हैं. रतलाम ज़िले के कुछ इलाकों में तो हालात ऐसे हो गए कि कई गांवों में गांववाले फंस गये जिन्हें एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमों ने कई घंटों के मैराथन ऑपरेशन में बाहर निकाला. रतलाम और आस-पास के बांसवाड़ा जिले के में दो नदियों में पानी बढ़ने से हजारों गांव संपर्क से कट गये. निकटवर्ती मंदसौर जिले में, मंदसौर, सीतामऊ और मल्हारगढ़ क्षेत्रों के लगभग एक दर्जन गांवों और कस्बों में बारिश का पानी घुस गया. बारिश के पानी ने मंदसौर जिला अस्पताल को भी अस्त-व्यस्त कर दिया. समीपवर्ती शाजापुर और आगर-मालवा जिले में, विशेष रूप से आगर-मालवा जिले के सोयत इलाके में भी भारी बारिश से नदी नाले उफान पर हैं.

मध्यप्रदेश: कमलनाथ सरकार दूध पार्लर पर बेचेगी कड़कनाथ मुर्गे का मांस, बीजेपी ने जताया ऐतराज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मौसम विभाग ने पश्चिम और दक्षिण-पश्चिम मध्यप्रदेश के दस जिलों के लिए अगले 24 घंटों में बहुत भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है, जिसमें मंदसौर, नीमच, रतलाम, शाजापुर और आगर-मालवा शामिल हैं और 12 अन्य जिलों के ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. मध्यप्रदेश में इस बरसात में अबतक 205 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 600 से ज्यादा मवेशी मारे जा चुके हैं.