NDTV Khabar

हाथ-पैर की थी छह अंगुलियां, पैदा होते ही मां ने हंसिए से काट किया गोबर का लेप, नवजात की मौत, पुलिस ने कब्र से निकलवाया शव

प्रसूता महिला ने जन्म के बाद ही हंसिये से बच्ची की अतिरिक्त अंगुलियां काट दी और जख्म पर गोबर का लेप लगाकर पलाश के पत्ते से लपेट दिया.

448 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
हाथ-पैर की थी छह अंगुलियां, पैदा होते ही मां ने हंसिए से काट किया गोबर का लेप, नवजात की मौत, पुलिस ने कब्र से निकलवाया शव

प्रतीकात्मक तस्वीर.

खास बातें

  1. पैदा होते ही मां ने काटी अंगुलियां
  2. पुलिस ने कब्र से निकलवाया शव
  3. पोस्टमार्टम के बाद होगी कार्रवाई
खंडवा (मप्र):

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के खंडवा (Khandwa) जिले में एक मासूम की अपनी ही मां की बर्बरता की वजह से मौत हो गई. बताया जा रहा है कि नवजात के हाथ और पैर में छह अंगुलियां थीं, जिसके बाद मां से कथित रूप से अंगुलियां काट डालीं. इसकी वजह से बच्ची को संक्रमण हो गया और उसकी मौत हो गई. पुलिस बच्ची का शव कब्र से बाहर निकलवाकर उसका पोस्टमार्टम करवा रही है और रिपोर्ट आने के बाद इस मामले में आगे कार्रवाई की जाएगी.

खालवा पुलिस थाने की प्रभारी निरीक्षक हीना डाबर ने बताया कि 22 दिसंबर को वनग्राम सुन्दरदेव में एक आदिवासी महिला तारादेवी को घर में लड़की का जन्म हुआ था. कथित तौर पर बच्ची की हाथ-पैर में छह-छह अंगुलियां थीं. प्रसूता महिला ने जन्म के बाद ही हंसिये से बच्ची की अतिरिक्त अंगुलियां काट दी और जख्म पर गोबर का लेप लगाकर पलाश के पत्ते से लपेट दिया. इससे संक्रमण होने से कुछ घंटों के बाद ही बच्ची ने दम तोड़ दिया. बाद में परिजन ने बच्ची का शव जमीन में दफना दिया. डाबर ने बताया कि बच्ची की मां ताराबाई को इस पर पछतावा है लेकिन उसने अंधविश्वास के चलते ऐसा किया है. 

मां ने 'फेसबुक लवर' के साथ भागने से रोका तो बेटी ने की चाकुओं से गोदकर हत्या


ताराबाई ने कहा, ‘अंध विश्वास के चलते मैं करती भी क्या? मेरी लड़की के हाथ-पैर में छह-छह अंगुलियां देखकर लोग तरह-तरह की बातें करते. मेरे बच्चों की शादी भी नहीं हो पाती.' उन्होंने बताया कि सोमवार को मामले की जानकारी लगने पर खालवा पुलिस ने एसडीएम की अनुमति से शव को जमीन से निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा है. 

एक तरफा प्यार में टैक्सी ड्राइवर ने छात्रा को लगाई थी आग, इलाज के दौरान हुई मौत, मां को पड़ा दिल का दौरा

पुलिस अधीक्षक रूचिवर्धन मिश्र ने बताया कि बच्ची की मौत के कारणों का पता लगाने के लिए शव को निकलवाकर उसका पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी. इस बीच, ब्लाक चिकित्सा अधिकारी (बीएमओ) डॉ शैलेन्द्र कटारिया ने कहा कि बच्ची का जन्म अस्पताल में न होकर घर में होने के चलते इस क्षेत्र के जिम्मेदार चिकित्सा कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है.

(इनपुट- भाषा)

टिप्पणियां

गर्भवती महिला ने लगाई फांसी, तभी हुआ बच्चे का जन्म और फिर...

VIDEO- शव को कंधे पर लेकर अस्पताल में भटकता रहा बेटा, भूख के चलते हुई थी मां की मौत


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement