दुर्लभ तेंदुए किंग लेपर्ड की खाल बरामद, तस्करी करने वाला गिरोह पकड़ा

मध्यप्रदेश के इंदौर में स्पेशल टास्क फोर्स ने आरोपी गफ्फार और उसके साथी को गिरफ्तार किया

दुर्लभ तेंदुए किंग लेपर्ड की खाल बरामद, तस्करी करने वाला गिरोह पकड़ा

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • एक विशेष प्रजाति के तेंदुए किंग लेपर्ड की है खाल
  • इस प्रजाति के तेंदुए देश में चार-पांच ही होने की संभावना
  • दोनों पहले भी खाल की तस्करी के मामले में गिरफ्तार हो चुके हैं
भोपाल:

मध्यप्रदेश के इंदौर में स्पेशल टास्क फोर्स ने दुर्लभ तेंदुए किंग लेपर्ड की खाल के साथ जानवरों की खाल की तस्करी करने वाले गिरोह को गिरफ्तार किया है. मध्य प्रदेश एसटीएफ एडीजी अशोक अवस्थी ने बताया कि इंदौर यूनिट को मुखबिर के जरिए पता लगा था कि चंदन नगर इलाके में लेपर्ड की खाल बेचने के लिए कुछ लोग घूम रहे हैं जिसके बाद एसटीएफ की टीम ने मौके पर पहुंचकर तस्करी करने वाले मुख्य आरोपी गफ्फार और उसके साथी को किंग लेपर्ड की खाल के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार किया.

अवस्थी ने बताया कि आरोपियों से गहन पूछताछ की जा रही है क्योंकि जो खाल मिली वह सामान्य लेपर्ड की ना होकर एक विशेष प्रजाति के लेपर्ड किंग की है, जो पूरे हिंदुस्तान में चार या पांच होंगे. इंदौर एसटीएफ लगातार आरोपियों से पूछताछ कर रही है. बताया जा रहा है कि यह दोनों पहले भी जानवरों की खाल की तस्करी के मामले में गिरफ्तार हो चुके हैं. एसटीएफ को अंदेशा है कि पूछताछ में कई अहम खुलासे हो सकते हैं.

बताते हैं कि किंग लेपर्ड पश्चिम घाट में पाया जाता है. इसे सेंधवा के जंगलों में मारा गया था. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किंग लेपर्ड की खाल दस लाख रुपये तक में बिकती है.

Newsbeep

VIDEO : तेंदुए की खाल का तस्कर गिरफ्तार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com