NDTV Khabar

मध्य प्रदेश: मंदसौर गोलीकांड में अब तक नहीं आई रिपोर्ट, कांग्रेस ने साधा निशाना

मंदसौर गोलीकांड में किसानों की मौत के मामले में जस्टिस जैन आयोग का कार्यकाल 11 मई को खत्म हो गया, लेकिन रिपोर्ट अभी तक नहीं आई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्य प्रदेश: मंदसौर गोलीकांड में अब तक नहीं आई रिपोर्ट, कांग्रेस ने साधा निशाना

फाइल फोटो

खास बातें

  1. मंदसौर गोलीकांड में अब तक नहीं आई रिपोर्ट
  2. कांग्रेस ने साधा शिवराज सरकार पर निशाना
  3. जस्टिस जैन आयोग का कार्यकाल 11 मई को खत्म हो गया
भोपाल: मंदसौर गोलीकांड में किसानों की मौत के मामले में जस्टिस जैन आयोग का कार्यकाल 11 मई को खत्म हो गया, लेकिन रिपोर्ट अभी तक नहीं आई. विपक्ष का आरोप है सरकार किसानों के नाम पर सिर्फ नाटक करती है, सियासी नफा-नुकसान को देखते हुए रिपोर्ट नहीं सौंपी गई है. 1-10 जून 2017 तक मध्यप्रदेश धधकता रहा. 6 जून को उग्र किसानों पर मंदसौर में फायरिंग हुई, जिसमें 5 किसानों की मौत हो गई, एक ने बाद में अस्पताल में दम तोड़ दिया. मामले की न्यायिक जांच जस्टिस जेके जैन को सौंपी गई थी. आयोग को सबसे पहले तीन महीने बाद यानी 11 सितंबर को रिपोर्ट सौंपनी थी, फिर 11 दिसंबर 2017 तक कार्यकाल बढ़ाया गया. 11 मार्च 2018 तक आयोग को फिर एक्सटेंशन मिला. चौथी बार आयोग का कार्यकाल 11 मई 2018 तक बढ़ाया गया. लेकिन सरकार को अब भी रिपोर्ट का इंतज़ार है, जबकि आयोग का कार्यकाल खत्म हो चुका है. मामले में कानून मंत्री हों या सामान्य प्रशासन सब गोल-मोल जवाब ही दे रहे हैं. 
     
यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश: बेटे की चाह पूरी न होने पर दो बेटियों का नाम ही रख दिया ‘अनचाही’, अब उड़ता है मजाक

टिप्पणियां
कानून मंत्री रामपाल सिंह ने एनडीटीवी के सवाल जवाब में कहा किसानों ने जितनी जांच की मांग की, उससे बड़ी जांच की है. सार्वजनिक रूप से कुछ चीजें बाहर नहीं आती लेकिन कार्रवाई कठोर निर्णय लिये, किसानों के हित में बड़े निर्णय लिये. वहीं, सामान्य प्रशासन मंत्री लाल सिंह आर्य से जब पूछा गया कि 4 बार कार्यकाल बढ़ा है रिपोर्ट कब आएगी तो उन्होंने कहा मुझे लगता है ये हम तय नहीं कर सकते न्यायिक प्रक्रिया है,  मांग होगी तो फिर कार्यकाल बढ़ाएंगे.
 
यह भी पढ़ें: एनडीए में शामिल नेता ने संसद में अपनी ही सरकार को घेरा, कहा- क्या किसान आतंकी हैं?
     
कांग्रेस का आरोप है सरकार किसानों के नाम पर सिर्फ संवेदनशीलता का नाटक करती है. कांग्रेस प्रवक्ता रवि सक्सेना ने कहा ये किसान हंता सरकार है,  देश में पहली बार गोली मारकर किसानों की हत्या की गई. सीएम ने कई बार छोड़ूंगा नहीं आयोग बना दिया है जैसे ही रिपोर्ट आएगी कार्रवाई करूंगा. 2-3 बार कार्यकाल बढ़ा कोई रिपोर्ट नहीं आई. ये किसान हितैषी होने का स्वांग रचते हैं. 6 जून को 2 जगह फायरिंग हुई थी, पिपलिया मंडी जहां 3 किसानों की मौत हुई थी और भाई चौपाटी जहां 2 किसानों की मौत हुई थी.

VIDEO: मध्यप्रदेश : मंदसौर गोलीकांड पर अब तक रिपोर्ट नहीं
सूत्रों के मुताबिक, आयोग के सामने पुलिसवालों ने माना कि गोली उनकी बंदूक से चली लेकिन ये भी कहा दुर्घटनावश हुई जब आंदोलनकारी पुलिसवालों से बंदूक छीनने की कोशिश कर रहे थे. 1 जून से किसानों ने गांव बंद का ऐलान किया है और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 6 जून को मंदसौर आने की तैयारी में हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement