मध्य प्रदेश : BJP कार्यालय में उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, कमलनाथ ने पूछा- 'नियम सिर्फ गरीबों के लिये है क्या मोदी जी?'

बीजेपी नेता और पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी पूर्व मंत्री प्रभुराम चौधरी के रायसेन के समर्थकों ने शनिवार को भोपाल कार्यालय में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सदस्यता ग्रहण की

मध्य प्रदेश : BJP कार्यालय में उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, कमलनाथ ने पूछा- 'नियम सिर्फ गरीबों के लिये है क्या मोदी जी?'

बीजेपी कार्यालय में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन

खास बातें

  • पूर्व मंत्री के समर्थकों ने ली बीजेपी की सदस्यता
  • सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन हुआ
  • कांग्रेस ने बीजेपी पर साधा निशाना, पीएम मोदी से पूछा सवाल
भोपाल:

बीजेपी नेता और पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी पूर्व मंत्री प्रभुराम चौधरी के रायसेन के समर्थकों ने शनिवार को भोपाल कार्यालय में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सदस्यता ग्रहण की. इस दौरान, सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के नियमों का उल्लंघन हुआ. कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या मोदी जी के लॉकडाउन के नियम सिर्फ़ ग़रीबों , आमजन के लिये है , आपकी पार्टी के नेताओ पर यह नियम लागू नहीं होते है?

कमलनाथ ने अपने ट्वीट में लिखा- शिवराज जी कल कोरोना की समीक्षा के दौरान नियमों के पालन पर आप प्रदेशवासियों को सख़्त चेतावनी दे रहे थे. प्रदेश में आमजन के लिये इस लॉकडाउन में शादी समारोह हो या गमी हो संख्या तय है. सभी आमजन नियमों का पालन भी कर रहे हैं. उन्होंने आगे कहा, "वही आपके भाजपा कार्यालय में आज लॉकडाउन में आपकी व अन्य ज़िम्मेदार भाजपा नेताओ की उपस्थिति में एक भीड़भरा कार्यक्रम आयोजित होता है, नियमों का जमकर मखौल उड़ता है, सोशल डिस्टन्सिंग का ज़रा भी पालन नहीं होता है? इसके पूर्व भी ऐसा कई बार हो चुका है." 
    

अगले ट्वीट में उन्होंने कहा, "क्या मोदी जी के लॉकडाउन के नियम सिर्फ़ ग़रीबों, आमजन के लिये है, आपकी पार्टी के नेताओ पर यह नियम लागू नहीं होते है? क्या इसके दोषियों पर आमजन की तरह ही कार्रवाई होगी?"

इसी बीच, बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने उपचुनाव में अकेले लड़ने का ऐलान करके बीजेपी और कांग्रेस को हैरानी में डाल दिया है. बीएसपी ने राज्य की सभी 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में अकेले लड़ने का फैसला किया है.

बीजेपी ने अपने कार्यकर्ताओं को चुनाव की तैयारियां तेज करने के लिए कहा है. यही नहीं, कांग्रेस ने भी सभी सीटों पर चुनावी तैयारी तेज कर दी है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com