स्ट्रेचर नहीं मिला तो एएसआई ने घायल महिला को पीठ पर उठाकर दौड़ लगाई

एएसआई संतोष सेन की कर्तव्यनिष्ठा की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने तारीफ की, आईजी भगवत सिंह चौहान ने संतोष सहित पांच पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया

स्ट्रेचर नहीं मिला तो एएसआई ने घायल महिला को पीठ पर उठाकर दौड़ लगाई

घायल महिला को पीठ पर उठाकर अस्पताल की ओर भागते हुए एएसआई संतोष सेन.

भोपाल:

मध्यप्रदेश के जबलपुर में चरगवां रोड पर घुघरी गांव के पास मंगलवार को सुबह आठ बजे एक मिनी ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया. हादसे में ट्रक में सवार 35 मजदूर घायल हो गए. सभी घायलों को पुलिस कर्मी मेडिकल लेकर पहुंचे तो वहां स्ट्रेचर तक नहीं मिला. ऐसे में पुलिस कर्मियों ने पीठ व गोद में उठाकर घायलों को कैजुअल्टी तक पहुंचाया. इनमें शामिल थे 57 साल के एएसआई संतोष सेन. 

सन 2006 में नरसिंहपुर में एक बदमाश के साथ मुठभेड़ में गोली लगने से संतोष सेन एक हाथ ढंग से काम नहीं करता, फिर भी जबलपुर में सड़क हादसे में घायल मज़दूरों को कंधे पर लादकर उन्होंने अस्पताल के अंदर तक  दौड़ लगा दी. 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट कर कहा-संतोष जी युवा पुलिस कर्मियों के लिए प्रेरणा स्रोत हैं. उनके जैसे लोग समाज को दिशा दिखाने का कार्य करते हैं. मैं उनके जज्बे को प्रणाम करता हूं. उन्हें शुभकामनाएं देता हूं और हार्दिक अभिनंदन करता हूं. 

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं बुधवार को आईजी भगवत सिंह चौहान ने एएसआई संतोष सेन सहित पांचों पुलिस कर्मियों को प्रशंसा पत्र देते हुए एक-एक हजार रुपए के पुरस्कार से सम्मानित किया.