इंदौर प्रशासन का देश में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्ट करने का दावा

मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है. इसे रोकने की हर संभव कोशिश की जा रही है. ज़िला प्रशासन का दावा है कि वो दस लाख में अब दो हजार सैम्पल लेकर जांच कर रहा है, जो देश में सबसे  ज्यादा हैं.

इंदौर प्रशासन का देश में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्ट करने का दावा

प्रतीकात्मक.

भोपाल:

मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है. इसे रोकने की हर संभव कोशिश की जा रही है. ज़िला प्रशासन का दावा है कि वो दस लाख में अब दो हजार सैम्पल लेकर जांच कर रहा है, जो देश में सबसे  ज्यादा हैं. इसका नतीजा है कि पॉजिटिव मरीजों की संख्या भी अधिक आ रही है. इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि इंदौर में मरीजों के सैम्पल और टेस्टिंग लेने पर ध्यान देने के साथ ही शहर में सघन सर्वे पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है. 


उन्होंने बताया कि अभी तक यहां 6 से 7 लाख लोगों का सर्वे पूरा कर लिया गया है. हमारा लक्ष्य है कि 12 लाख से अधिक व्यक्तियों का सर्वे हो. शेष सर्वे का यह कार्य भी शीघ्र पूरा कर लिया जायेगा. उन्होंने बताया कि अभी 500 टेस्टिंग प्रतिदिन करने की क्षमता है. जल्द ही यह क्षमता बढ़कर 600 टेस्टिंग प्रतिदिन हो जाएगी. उन्होंने बताया कि 10 से 15 दिन के बैकलॉग के सैम्पल की टेस्टिंग पूरी हो रही है. जो मरीज आ रहे हैं वह पूर्व के होम क्वारंटाइन या संस्थागत क्वारंटाइन के हैं. नये प्रकरणों में कुछ कमी आई है. उम्मीद है कि बेहतर परिणाम मिलेंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने बताया कि इंदौर में नए अस्पताल चिन्हित कर बेड की संख्या भी बढ़ाई जा रही है. इंदौर में अब होस्टल, मैरिज गार्डन और दूसरे भवनों को अधिगृहित कर कोविड केयर सेंटर के रूप में स्थापित किया जा रहा है. इनमें थर्ड श्रेणी के मरीजों को रखा जा रहा है, जिनमें कोई लक्षण नहीं है, हल्के पॉजिटिव हैं या बहुत ही हल्के लक्षण हैं. मध्यप्रदेश में अब कुल 1164 कोरोना संक्रमित मरीज हैं, जिसमें 55 की मौत हो चुकी है. इंदौर में 707 मरीज़ हैं जिसमें 39 लोगों की मौत हो चुकी है.