NDTV Khabar

कांग्रेस समर्थक अभिषेक मिश्रा को दिल्ली पुलिस ने भोपाल में किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार किया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस समर्थक अभिषेक मिश्रा को दिल्ली पुलिस ने भोपाल में किया गिरफ्तार

मध्यप्रदेश कांग्रेस के समर्थक अभिषेक मिश्रा मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. मध्यप्रदेश सरकार ने गिरफ्तारी पर आपत्ति जताई
  2. कहा- स्थानीय पुलिस को सूचना दिए बिना कैसे हुई गिरफ्तारी
  3. सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश का उल्लंघन किया गया
भोपाल/ दिल्ली:

कांग्रेस के समर्थक अभिषेक मिश्रा को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने भोपाल से गिरफ्तार किया है. अभिषेक को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

मध्यप्रदेश सरकार ने बिना स्थानीय पुलिस को सूचना दिए अभिषेक की गिरफ़्तारी पर ऐतराज़ जताया है. कमलनाथ सरकार ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने साफ तौर पर यह दिशा निर्देश दिए हैं कि राज्यों से किसी भी शख्स की गिरफ्तारी किए जाने पर स्थानीय थाने को सूचना देना जरूरी है.

 


दिल्ली पुलिस ने एक गुप्त शिकायत के आधार पर अभिषेक को गिरफ्तार किया है. आरोप है कि अभिषेक सोशल मीडिया, फेसबुक ट्वीटर और अपनी एक वेबसाइट के जरिए भड़काऊ पोस्ट, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली पोस्ट लिखता था. इसके बाद उसकी गिरफ्तारी की गई है.

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में ब्लागर और कांग्रेस पार्टी के समर्थक अभिषेक मिश्रा को गिरफ्तार किए जाने पर प्रदेश सरकार ने आपत्ति जताई है. स्थानीय पुलिस को सूचना दिए बगैर गिरफ्तारी की गई है. राज्य के गृह विभाग ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर आपत्ति दर्ज कराते हुए दिल्ली पुलिस की इस कार्रवाई को सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का उल्लंघन बताया है.
          
भोपाल के कोहेफिजा इलाके में मंगलवार को रात में लगभग साढ़े आठ बजे कुछ लोग वेबसाइट बनवाने के नाम पर अभिषेक से मिलने आए. परिवार के मुताबिक थोड़ी बातचीत के बात वे उसे गाड़ी में बिठाकर ले गए. इसके बाद अभिषेक मिश्रा के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली और उसका मोबाइल भी बंद था. बुधवार को औपचारिक तौर पर यह जानकारी मिली कि अभिषेक को प्रवीण कुमार, निरीक्षक, सायबर क्राइम यूनिट, स्पेशल सेल, दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है.
     
मध्यप्रदेश शासन के गृह विभाग ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को लिखे खत में कहा है कि पूरे घटनाक्रम में ऐसा प्रतीत होता है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (एसबी) टीम ने गिरफ्तारी के समय माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्देशों का उचित रूप से पालन नहीं किया. स्थानीय पुलिस को गिरफ्तारी की सूचना नहीं दी और न ही अभिषेक मिश्रा के परिजनों को गिरफ्तारी की सूचना दी, जिससे अपहरण की आशंका उत्पन्न हुई.

गृह विभाग के उप सचिव ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को भेजे गए पत्र में लिखा है कि दिल्ली पुलिस द्वारा की गई इस नियम विरुद्ध कार्यवाही की आवश्यक जांच की जाए. साथ ही नियम विरुद्ध कार्यवाही करने के लिए जिम्मेदार पुलिस अधिकारी के विरुद्ध यथोचित कार्रवाई की जाकर मध्यप्रदेश शासन को अवगत करवाया जाए.

VIDEO : वायरल वीडियो पर वार-पलटवार

टिप्पणियां

उसने पीएम मोदी को लेकर भी कई अशोभनीय पोस्ट लिखी हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement