चुनावी सभा में शिवराज सरकार के मंत्री की कांग्रेस नेता ने हालत पतली कर दी

सुवासरा विधानसभा सीट के लिए हो रहा उपचुनाव, पूर्व कांग्रेसी विधायक और शिवराज सरकार के मौजूदा मंत्री हरदीप सिंह डंग को कांग्रेस के कर्मवीर सिंह भाटी ने निरुत्तर किया

चुनावी सभा में शिवराज सरकार के मंत्री की कांग्रेस नेता ने हालत पतली कर दी

सुवासरा में चुनावी सभा में हरदीप सिंह डंग से बहस करते हुए कांग्रेस नेता कर्मवीर सिंह भाटी.

भोपाल:

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मंदसौर के सुवासरा (Suwasara) विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव को लेकर पूर्व कांग्रेसी विधायक और वर्तमान शिवराज सरकार के मंत्री हरदीप सिंह डंग (Hardeep Singh Dung) लगातार तूफानी दौरे कर रहे हैं. इस दौरान वे माइक के सहारे नुक्कड़ सभाएं भी कर रहे हैं. ऐसी एक सभा के दौरान हरदीप सिंह डंग से एक कांग्रेसी नेता द्वारा बहस किए जाने का मामला सामने आया है. इस दौरान कांग्रेस नेता हरदीप सिंह डंग पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए उनसे नुक्कड़ सभा के दौरान ही बहस करने लगे. मामला बिगड़ता देख किसी तरह से मौके पर तैनात पुलिस कर्मियों ने कांग्रेस नेता को मौके से हटाया. 

इसके बाद मंत्री जी भी ज्यादा देर नहीं रुके और अपना भाषण संक्षिप्त में समाप्त करके अगले गांव की ओर चल दिए. यह मामला बुधवार सुबह का है. अब यह गर्मागर्म नोंकझोंक का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. 
      
प्राप्त जानकारी के अनुसार यह वीडियो सीतामऊ विधानसभा क्षेत्र के ग्राम रतनपुरा का है जहां बुधवार को सुबह जनसंपर्क करने पहुंचे केबिनेट मंत्री हरदीप सिंह डंग की युवक कांग्रेस के कर्मवीर सिंह भाटी से बहस हो गई. सार्वजनिक रूप से हुई इस बहस के बाद मंत्री जी के गार्ड ने बहस कर रहे कर्मवीर को वहां से हटा दिया.युवक कांग्रेस के अध्यक्ष कर्मवीर भाटी ने हरदीप सिंह डंग पर इस दौरान झूठ बोलने ओर धर्म पर राजनीति करने का भी आरोप लगाया. मामला बढ़ते देख पुलिस कर्मियों ने  हस्तक्षेप किया और कर्मवीर को सभा स्थल से हटाया गया. 

Newsbeep

मध्‍य प्रदेश की शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल में 'महाराज' के समर्थकों का 'जलवा'...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दरअसल हरदीप सिंह डंग नुक्कड़ सभाएं कर रहे हैं. इस दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस सरकार ने वादाखिलाफी की. समूह लोन माफ नहीं किए. किसानों का दो लाख का कर्जा माफ नहीं किया. यहां तक कि एक नेता तो जयकार पर आपत्ति लेते थे. इस दौरान आपत्ति जताते हुए कर्मवीर ने मंत्री पर झूठ बोलने का आरोप लगाया.