NDTV Khabar

नेता प्रतिपक्ष का दावा, मंत्रियों के बंगलों की पुताई पूरी होने से पहले गिर जाएगी मध्यप्रदेश सरकार

कहा- प्रदेश में अल्पमत जुगाड़ वाली सरकार है, यह सरकार उस मानव शरीर जैसी है जिसमें गुर्दे दूसरे के, हृदय दूसरे का, लिवर दूसरे का है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नेता प्रतिपक्ष का दावा, मंत्रियों के बंगलों की पुताई पूरी होने से पहले गिर जाएगी मध्यप्रदेश सरकार

मध्यप्रदेश विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा है कि राज्य का कांग्रेस सरकार ज्यादा दिन चलने वाली नहीं है.

सागर:

मध्यप्रदेश के मंत्रियों के बंगलों का रंगरोगन होने से पहले राज्य की कांग्रेस सरकार गिर जाएगी. विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने यह दावा किया है. उन्होंने अपने गृह जिले सागर में सोमवार को कहा कि कांग्रेस सरकार ज्यादा दिन नहीं चलने वाली, जब तक मंत्रियों के बंगले पुतेंगे, तब तक यह सरकार गिर जाएगी.

नेता प्रतिपक्ष चुने जाने के बाद पहली बार अपने गृह जिले सागर पहुंचने पर गोपाल भार्गव का जगह-जगह स्वागत हुआ. रहली पहुंचने से पहले भार्गव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. बीजेपी को बहुमत न मिल पाने के दुख पर उन्हें ढाढस बंधाते हुए उन्होंने कहा, "प्रदेश में अल्पमत की सरकार है, यह जुगाड़ वाली सरकार है. यह सरकार उस मानव शरीर जैसी है जिसमें गुर्दे दूसरे के, हृदय दूसरे का, लिवर दूसरे का है. इस तरह की सरकार ज्यादा दिन नहीं चलती, टिकाऊ नहीं होती."

यह भी पढ़ें : शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में MP के बीजेपी विधायक मिले राष्ट्रपति से, विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में धांधली का आरोप


उन्होंने सरकार की स्थिति का जिक्र करते हुए कहा कि इस सरकार के पास बहुमत नहीं है, यह सरकार ज्यादा दिन नहीं चलने वाली. जब तक मंत्रियों के बंगलों की पुताई चलेगी, तब तक यह सरकार गिर जाएगी.

यह भी पढ़ें : मध्यप्रदेश : इस कांग्रेस विधायक ने सरकार के सामने खड़ी की मुसीबत, 'भीलिस्तान' की मांग उठाई

भार्गव ने पांच महीने बाद होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाने का आह्वान करते हुए कहा कि सभी लोग आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाएं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो देशहित व समाज हित में काम किए हैं, उसे आगे बढ़ाना है.

VIDEO : मध्यप्रदेश विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाएगी बीजेपी

टिप्पणियां

राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस के पास पूर्ण बहुमत तो नहीं है, मगर बीजेपी से पांच सीटें ज्यादा हैं. कुल 230 सीटों में से कांग्रेस के पास 114 सीटें और बीजेपी के पास 109 सीटें है. कांग्रेस ने सपा, बसपा और निर्दलियों के सहयोग से सरकार बनाई है. कई विधायकों के पाला बदलने की चल रही कोशिशों ने कांग्रेस व बीजेपी दोनों की मुश्किलें बढ़ा रखी हैं.
(इनपुट आईएएनएस से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement