NDTV Khabar

RBI के नाम पर ऑनलाइन ठगी करते थे पिता-पुत्र, MP पुलिस ने दिल्ली जाकर धर दबोचा

कॉल सेंटर चलाने वाले आरोपियों की पहचान 28 वर्षीय अभिषेक दीवान और 53 वर्षीय हरीश दीवान के रूप में हुई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
RBI के नाम पर ऑनलाइन ठगी करते थे पिता-पुत्र, MP पुलिस ने दिल्ली जाकर धर दबोचा

खास बातें

  1. आरबीआई के नाम पर लगाते थे लोगों को चूना
  2. प्रदीप नाम के शख्स से ठग लिए करीब 24 लाख
  3. दो और लोगों की तलाश में जुटी है पुलिस
नई दिल्ली:

मध्य प्रदेश पुलिस के साइबर दस्ते ने बुधवार को नई दिल्ली से ऐसे पिता-पुत्र की जोड़ी को गिरफ्तार किया है,जो लोगों से भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के नाम पर ठगी कर रहे थे.  ये लोग लोग आरबीआई के नाम का इस्तेमाल करते हुए लोगों को ऑनलाइन ठगी का शिकार बनाते थे. राज्य साइबर सेल की इंदौर इकाई के पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में ठगी का कॉल सेंटर चलाने वाले आरोपियों की पहचान 28 वर्षीय अभिषेक दीवान और 53 वर्षीय हरीश दीवान के रूप में हुई है. पिता-पुत्र पर उस ऑनलाइन ठगी गिरोह से जुड़े होने का आरोप है जो आरबीआई के नाम का दुरुपयोग कर देश भर के लोगों को चूना लगा रहा है.

पूर्व चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया से ठगी करने करने के आरोप में एक गिरफ्तार, मास्टरमाइंड की तलाश जारी


सिंह ने बताया, "इस तरह की ऑनलाइन ठगी के एक मामले की हम जांच कर रहे हैं. इसमें गिरोह ने नजदीकी शहर उज्जैन के निवासी प्रमोद कुमार को यह झांसा देकर चूना लगाया कि आरबीआई की एक योजना के तहत उन्हें 1.68 करोड़ रुपये के लाभ के लिये चुना गया है. लेकिन यह लाभ हासिल करने के लिये उन्हें स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) के रूप में सरकारी खजाने में राशि जमा करनी होगी."उन्होंने बताया, "ठग गिरोह से जुड़ी एक युवती ने कुमार को फोन कर कहा कि वह आरबीआई गवर्नर के निजी स्टाफ में शामिल है. इस लड़की ने केंद्रीय बैंक की फर्जी योजना का लाभ दिलाने के नाम पर उनसे अलग-अलग बैंक खातों में धनराशि जमा करायी."

सोनाक्षी सिन्हा ने ऑर्डर किए हेडफोन, पैकेट खोला तो निकला कुछ ऐसा, उड़ गए होश

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरोह के अलग-अलग लोगों ने कुमार को वर्ष 2014 से 2018 के बीच लगातार फोन किए और उनसे 24 बार में कुल 23 लाख 62 हजार रुपये जमा करा लिए. जब जमाकर्ता को अपने ठगे जाने का अहसास हुआ, तो उसने आखिरकार साइबर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई.  सिंह ने बताया कि ठग गिरोह के एक प्रमुख सदस्य और खुद को आरबीआई गवर्नर के निजी स्टाफ की सदस्य बताने वाली युवती की तलाश जारी है. वहीं साइबर पुलिस मामले की विस्तार से जांच करने में जुट गई है. 

टिप्पणियां

बता दें अभी हाल ही में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने भी ग्रीन पार्क इलाके से एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया था, जो एटीएम कार्ड की क्लोनिंग कर ऑनलाइन ठगी किया करता था. 

वीडियो: ATM कार्ड क्लोनिंग कर लोगों को ठगने वाला शख्स गिरफ्तार



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement