NDTV Khabar

शिवपुरी में दलित बच्चों की हत्या का मामला, पीड़ित परिवार के लिए घर बनवाएंगे सिंधिया

पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पीड़ित दलित परिवार को प्रशासन के जरिए शिवपुरी में अस्थायी आवास उपलब्ध कराया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवपुरी में दलित बच्चों की हत्या का मामला, पीड़ित परिवार के लिए घर बनवाएंगे सिंधिया

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शिवपुरी में पीड़ित दलित परिवार को अस्थायी आवास में प्रवेश कराया.

खास बातें

  1. बच्चों के परिजनों ने गांव में उनकी असुरक्षा का मुद्दा उठाया
  2. सिंधिया ने स्वयं पीड़ित परिवार को नए घर में प्रवेश कराया
  3. पीड़ित परिवार को 10-10 बीघा जमीन के पट्टे देने को सीएम को पत्र लिखा
भोपाल:

शिवपुरी जिले के भावखेड़ी गांव में विगत दिनों गांव के ही दबंग लोगों ने दो दलित बच्चों रोशनी एवं अविनाश की पीट-पीट कर हत्या कर दी थी. कल ज्योतिरादित्य सिंधिया मृत बच्चों के परिजनों से मिले और उन्हें ढाढस बंधाया. बच्चों के परिजनों ने गांव में उनकी असुरक्षा का मुद्दा उठाया एवं आग्रह किया कि शिवपुरी शहर में आवास प्रदान किया जाए. सिंधिया ने जिला प्रशासन को सुबह तक इस परिवार के लिए अस्थायी आवास का प्रबंध करने के निर्देश दिए. प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, कलेक्टर, एसपी ने बैठक करके दोपहर तक आवास का प्रबंध करके सिंधिया को सूचित किया.

गांव से पीड़ित परिवार एवं उनका सामान लेकर कांग्रेस के कार्यकर्ता एवं शासकीय कर्मचारी नए आवास में पहुचे. सिंधिया ने स्वयं पीड़ित परिवार को नए घर में प्रवेश कराया. उनके लिए अन्य जरूरी सामान का प्रबंध भी कराया. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि वे दोनों परिवारों के लिए निजी आवास का निर्माण स्वयं की निधि से कराएंगे. इसमें जो भी खर्चा होगा, वे स्वयं वहन करेंगे. सिंधिया ने पीड़ित परिवार के बच्चों का स्कूल में प्रवेश भी अपने समक्ष सुनिश्चित कराया.


उन्होंने प्रशासन को निर्देश दिया कि पीड़ित के परिजन को शासकीय सेवा में नियुक्ति देकर रोजगार का प्रबंध भी करें. इसके साथ ही जिला प्रशासन एवं पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र शीघ्र प्रस्तुत करके पीड़ित को न्याय दिलाने के प्रयास करें.

मध्य प्रदेश में हैवानियत: खुले में शौच के लिए गए दो दलित बच्चों की पीट-पीट कर हत्या

सिंधिया ने प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ जी को पत्र लिखकर यह भी आग्रह किया है कि पीड़ित परिवार को 10-10 बीघा जमीन पट्टे के रूप में प्रदान की जाए. साथ ही 50-50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता भी तत्काल दी जाना आवश्यक है.

स्वच्छ भारत अभियान को ठेंगा! शौचालय का हैरत में डालने वाला उपयोग

टिप्पणियां

VIDEO : दो दलित बच्चों की पीट-पीटकर हत्या



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement